प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

    वाशिम. सहमति प्राप्त होनेवाली जिले की 73 शालाओं की पहली घंटी गुरुवार 15 जुलाई को बज गई़  8वीं से 12वीं तक की कक्षाओं में कुल 1,802 छात्रों ने उपस्थिति लगायी़  विगत डेढ़ वर्ष से कोरोना संक्रमण से प्रत्यक्ष में शिक्षा के लिए शालाओं की कक्षाएं बंद है़  इस वर्ष भी छात्रों के लिए 28 जून को शालाएं शुरू नही हुई़  कोरोना की दूसरी लहर समाप्ति की ओर होने से स्थानीय प्रशासन, ग्रामस्तर समिति व पालकों की सहमति प्राप्ति के बाद कक्षा 8वीं से 12वीं तक की कक्षाएं शुरू करने की सूचना शालेय शिक्षा विभाग ने दिए है़.

    इसके अनुसार जिले में माध्यमिक शिक्षा विभाग ने नियोजन करके सहमति प्राप्त 73 शालाएं पहले दिन पर शुरू की गई है़. जिले में कुल 275 शालाएं है. इन में से 73 शालाएं शुरू हो गई है तो बाकी शालाओं के लिए स्थानीय ग्राम पंचायत के प्रस्ताव नही मिलने से यह शालाएं शुरू नही हो सकी़  कक्षा 9वीं से 12वीं तक के जिले में 75,760 छात्रों के नामों का पंजीयन है. इन में से पहले दिन कुल 1,802 छात्रों ने बड़े उत्साह से स्कूलों में अपनी उपस्थिति दर्शायी है़  तो कुल 2,906 शिक्षकों में से 1,016 शिक्षक उपस्थित थे़ 

    तहसील स्तरीय पहले दिन पर उपस्थित छात्र 

    प्राप्त जानकारी के अनुसार पहले दिन पर वाशिम तहसील में 3 शालाओं में 86 छात्रों की उपस्थिति रही़  तो कारंजा तहसील में 30 शालाओं में 224 छात्र, मालेगांव तहसील में 22 शालाओं में 914 छात्र, मंगरुलपीर तहसील में 4 शालाओं में 130 छात्र, मानोरा तहसील में 2 शालाओं में 51 छात्र, रिसोड तहसील में 12 शालाओं में 397 छात्र उपस्थित रहे. इस दौरान 8वीं से 12वीं तक की कक्षाएं शुरू होने से शिक्षक, शिक्षकेत्तर कर्मचारियों को कोरोना प्रतिबंधक टीका प्राथमिकता से दिया जा रहा है़  सभी से वैक्सीन लेने का आहवान किया गया है़.