File Photo
File Photo

वाशिम. जिले का विकास होने के लिए कृषि क्षेत्रों का विकास होकर किसानों की आय में वृध्दि होना आवश्यक है़  जिससे रोजगार गारंटी योजना के माध्यम से किसानों की आय वृध्दि के लिए प्रयास करने की सूचना मृद व जलसंधारण, रोजगार गारंटी योजना विभाग के प्रधान सचिव तथा वाशिम जिले के पालक सचिव नंदकुमार ने दी है. वे जिलाधिकारी कार्यालय परिसर के नियोजन भवन में रोजगार गारंटी योजना की जायजा बैठक में बोल रहे थे़.

इस अवसर पर जिलाधिकारी षण्मुगराजन एस., जि.प. के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मंगेश मोहिते, सहायक जिलाधिकारी वैभव वाघमारे, अमरावती विभागीय आयुक्त कार्यालय के रोगायो उपायुक्त धनंजय गोगटे, निवासी उप जिलाधिकारी तथा उप जिलाधिकारी (रोगायो) शैलेश हिंगे सहित विविध कार्यान्वयन यंत्रणा के जिला व तहसीलस्तरीय अधिकारी उपस्थित थे. नंदकुमार ने कहा कि रोजगार गारंटी योजना के लिए निधि की पर्याप्त उपलब्धता है, लेकिन स्थानीय परिस्थिति को देखते हुए उचित कार्यो का चयन, कार्य पूर्ण करने के लिए सूक्ष्म नियोजन, कार्यो की गुणवत्ता को विशेष महत्व है़  वाशिम जिला यह आकांक्षित जिला है़.

इस जिले का विकास होने के लिए किसानों की आय बढ़ना आवश्यक है़  इस के लिए रोजगार गारंटी योजना से विविध कार्यो की मदद हो सकती है़  राज्य में अनेक गांवों में रोजगार गारंटी योजना के कार्य से खेती के उत्पन्न में वृध्दि होने के उदाहरण है़  उसका अध्ययन करके अपने जिले में कौनसे कार्य करना संभव है़  इस के संबंध में सभी कार्यान्वयन यंत्रणाओं ने नियोजन करना चाहिए. लोगों को इस कार्य के लाभ अवगत करके व जिले में अधिक से अधिक कार्य करके खेती की आय बढ़ाने के लिए प्रयास करने का उन्होंने बताया.

इस अवसर पर जिलाधिकारी षण्मुगराजन एस. ने कहा कि रोजगार गारंटी योजना से किसानों को उपयुक्त ठहरनेवाली, गांव के विकास को मदद करनेवाले कार्य करने के लिए प्राथमिकता देना चाहिए़  इस के लिए नागरिकों में जनजागृति करना चाहिए. जिले के प्रत्येक गांवों में इन योजना से परिणामकारक कार्य होगा इसके लिए सभी जिलास्तरीय व तहसीलस्तरीय अधिकारियों ने नियोजनबद्ध प्रयास करे.

निवासी उप जिलाधिकारी हिंगे ने प्रास्ताविक में रोजगार गारंटी योजना अंतर्गत जिले में शुरू रहनेवाले कार्य, पूरक ढांचे में समाविष्ट कार्य, मजदूरों के आधार पंजीयन, जॉबकार्ड सत्यापन की जानकारी दी़  अमरावती के श्याम मकरंदपुरे, मास्टर ट्रेनर नीलेश घुगे, कारंजा के तहसील कृषि अधिकारी संतोष वालके ने भी उपस्थितों को मार्गदर्शन किया.