जलाशयों में जलभंडारण बढ़ने के लिए दमदार बारिश की प्रतीक्षा

    वाशिम. शनिवार व रविवार की रात में शहर के साथ जिले भर में हुई जोरदार बारिश जिले के जलाशयों में जलभंडारण बढ़ने के लिए कुछ लाभदायक साबित हुई तो भी अभी तक इन जलाशयों में अपेक्षित जलभंडारण नही होने से इन जलाशयों को दमदार बारिश की प्रतीक्षा है़  बारिश का मौसम शुरू होकर सव्वा महीने से अधिक कालावधि हुआ है़.

    शुरुआत के दिनों में हुई एक दो अच्छी बारिश को छोड़ दिया तो बीच में बारिश रुक गई थी़  इस दौरान शनिवार 10 जुलाई व रविवार 11 जुलाई के रात में जिले में अच्छी बारिश होने से जिले के जलाशयों में यह बारिश जलसंग्रह बढ़ने के लिए कुछ लाभदायक हुई है़ लेकिन अपेक्षित बारिश नही होने से जिले के जलाशयों के लिए अभी जोरदार बारिश की प्रतीक्षा की जा रही है़.

    मौसम विभाग के अनुसार आनेवाले 5 दिनों में मूसलाधार बारिश होने की संभावना से इन जलाशयों में जलभंडारण बढ़ने की संभावना नजर आ रही है़  जिले में कुल 134 जलप्रकल्प होकर इन में से तीन मध्यम प्रकल्प है़  इन मध्यम प्रकल्पों में अभी औसतन 37 प्रतिशत से अधिक उपयुक्त जलभंडारण है़  बारिश का मौसम शुरू होकर सव्वा महीने का अवधि समाप्त हुआ है़  लेकिन इन जलाशयों में अपेक्षित जलसंग्रह नही हो सका़  अभी इन सभी जलाशयों में कुल करीब 25 प्रतिशत जल भंडारण है़  इस में शहर को जलापूर्ति करनेवाले एकबुर्जी तालाब की स्थिति संतोषजनक नही है़.

    एकबुर्जी मध्यम जल प्रकल्प में अभी करीब 33, मालेगांव तहसील के सोनल मध्यम जलाशयों में करीब 33 तो यवतमाल सिंचाई विभाग के तहत आनेवाले अडान जलाशय में करीब 45 प्रतिशत उपयुक्त जलभंडारण हुआ है़  इस में अडान मध्यम जलाशयों में रहनेवाला जलभंडारण संतोषजनक रहा तो भी एकबुर्जी व सोनल जलाशयों में जलभंडारण की आवश्यकता है़  इसलिए किसानों के साथ ही नागरिकों को अभी जोरदार बारिश की प्रतीक्षा है़  इस दौरान मौसम विभाग के अनुसार अब आगामी 4 से 5 दिनों में जिले में अच्छी बारिश होने के अंदाज से इन जलाशयों में जलभंडारण बढ़ने की संभावना जताई जा रही है़.