On an average, each administrator has the responsibility of 4 gram panchayats.

वाशिम. वर्ष 2020 से 2025 के दौरान आम चुनाव द्वारा गठित होनेवाले जिले के ग्राम पंचायत के सरपंच पद के लिए महिला आरक्षण ड्रा 11 दिसंबर को जिलाधिकारी षण्मुगराजन एस. की अध्यक्षता में जिलाधिकारी कार्यालय परिसर के नियोजन भवन में निकाला गया. इस ड्रा द्वारा जिले के कुल 490 ग्राम पंचायत से 246 ग्राम पंचायत के सरपंच पद महिलाओं के लिए आरक्षित किए गए़  जिसमें अनुसूचित जाति के महिलाओ के लिए 50, अनुसूचित जमाति 20, नागरिकों का पिछड़ावर्ग प्रवर्ग 66 और सर्व साधारण प्रवर्ग के महिलाओं के लिए 110 ग्राम पंचायत के सरपंच पद आरक्षित रहेंगे़.

वाशिम तहसील के 84 ग्राम पंचायत से 42 ग्राम पंचायत के सरपंच पद महिलाओं के लिए आरक्षित है. जिसमें अनुसूचित जाति 10, अनुसूचित जमाति 2, नागरिकों का पिछड़ावर्ग प्रवर्ग 11 और सर्व साधारण प्रवर्ग के महिलाओं के लिए 19 ग्राम पंचायत में आरक्षण निश्चित किया गया. रिसोड तहसील के 80 ग्राम पंचायत में 40 ग्राम पंचायत के सरपंच पद महिलाओं के लिए आरक्षित है.

जिसमें अनुसूचित जाति 9, अनुसूचित जमाति 2, नागरिकों का पिछड़ावर्ग प्रवर्ग 11 और सर्व साधारण प्रवर्ग के महिलाओं के लिए 18 ग्राम पंचायत में आरक्षण निश्चित किया गया़  मालेगांव तहसील के 83 ग्राम पंचायत के 42 ग्राम पंचायत के सरपंच पद महिलाओं के लिए आरक्षित है. जिसमें अनुसूचित जाति 8, अनुसूचित जमाति 7, नागरिकों का पिछड़ावर्ग प्रवर्ग 11 और सर्व साधारण प्रवर्ग के महिलाओं के लिए 16 जगह पर आरक्षण निश्चित किया गया़  मंगरूलपीर तहसील के 76 ग्राम पंचायत से 38 ग्राम पंचायत के सरपंच पद महिलाओं के लिए आरक्षित है.

जिसमें अनुसूचित जाति 9, अनुसूचित जमाति 2, नागरिकों का पिछड़ावर्ग प्रवर्ग 10 और सर्व साधारण प्रवर्ग महिलाओं के लिए 17 ग्राम पंचायत में आरक्षण निश्चित किया गया़  कारंजा तहसील के 90 ग्राम पंचायत से 45 ग्राम पंचायत के सरपंच पद महिलाओं के लिए आरक्षित है. जिसमें अनुसूचित जाति 9, अनुसूचित जमाति 2, नागरिकों का पिछड़ावर्ग प्रवर्ग 11 और सर्व साधारण प्रवर्ग के महिलाओं के लिए 22 ग्राम पंचायत में आरक्षण निश्चित किया गया़  मानोरा तहसील के 77 ग्राम पंचायत से 39 ग्राम पंचायत के सरपंच पद महिलाओं के लिए आरक्षित है.

जिसमें अनुसूचित जाति 5, अनुसूचित जमाति 5, नागरिकों का पिछड़ावर्ग प्रवर्ग 11 और सर्व साधारण प्रवर्ग के महिलाओं के लिए 18 जगह पर आरक्षण निश्चित किया गया. इस अवसर पर उप जिलाधिकारी (राजस्व) सुनील विंचनकर सहित तहसीलदार, अधिकारी, कर्मचारी व नागरिक उपस्थित थे़.