पूर्व-प्राथमिक शिक्षकों के लिए कार्यशाला

  • विद्याभारती द्वारा आयोजित कार्यशाला को बेहतर प्रतिसाद 

वाशिम. स्थानीय विद्याभारती की ओर से नारायणाज किड्स में नई शिक्षा नीति 2020 के अंतर्गत पूर्व प्राथमिक शिक्षकों के लिए विशेष कार्यशाला का आयोजन किया गया था. कार्यशाला को  मार्गदर्शन करने के लिए विद्याभारती के पश्चिम क्षेत्र संगठन मंत्री शैलेश जोशी, विद्याभारती के संरक्षक पूर्व विधायक एड. विजय जाधव, विद्याभारती के वाशिम जिलाध्यक्ष प्रा.दिलीप जोशी, प्रांत सहमंत्री एड. सत्यानन्द कांबले, जिला प्रमुख बालासाहब सावरकर, नारायणाज किड्स के प्रा. अनिल धूमकेकर आदि उपस्थित थे़.

 इस अवसर पर शैलेश जोशी ने नई शिक्षा नीति पूर्व प्राथमिक शिक्षण यह शिशुगट से कक्षा दूसरी तक होकर शिक्षा में पाटी, पेन, नोटबुक, पुस्तक अथवा स्कूल बैग का समावेश न होने से विद्यार्थियों को शिक्षा का कार्य कौशल्यपूर्ण रहने का प्रतिपादन किया. इस के लिए उन्होंने भाषा और गणित विषय का प्रात्यक्षिक सहित कार्यशाला के शिक्षकों को शामिल किया था़  करीब 2 घंटे तक शुरू कार्यशाला में 10 शालाओं से प्रतिनिधि उपस्थित थे़  कार्यशाला की शुरुआत दीप प्रज्वलन और सरस्वती वंदना से हुई.

प्रास्ताविक अनिल धूमकेकर, संचालन रेणुका जोशी व आभार प्रदर्शन श्रीकांत जोशी ने किया. कार्यक्रम में प्रा. विशाल कोल्हे, प्रा.भावना सुतवणे, मनोज सुतवणे, अशोक बोंद्रे, अतुल इंगले, श्रीपाद लक्रस, उमेश गोटे, विठ्ठल भिसडे, ज्योति भाकरे आदि उपस्थित थे़  सफलतार्थ नारायणाज किड्स के संचालक मंडल, शिक्षकवृंद और कर्मचारियों ने प्रयास किए. शांति पाठ से कार्यक्रम का समापन किया. कैप्शन: वाशिम. कार्यशाला में उपस्थित अतिथि व अन्य.