26/11: Indian Americans held protest outside Pakistan embassy, demanded punishment of criminals

न्यूयार्क: प्रवासी भारतीयों (Indians) ने 26/11 के मुम्बई हमले (26/11 Mumbai Attacks) की 12 वीं बरसी पर बृहस्पतिवार को यहां पाकिस्तानी वाणिज्य दूतावास (Pakistan Embassy) के बाहर प्रदर्शन (Protest) किया और गुनाहगारों को उचित दंड देने की मांग की। भारतीय मूल के अमेरिकी समुदाय (Indian-American Community) के सदस्यों के लोगों ने बैनर और पोस्टर लेकर यहां पाकिस्तानी मिशन के बाहर ठंड एवं बारिश के बावजूद प्रदर्शन किया। अन्य देशों के नागरिकों ने भी उनका साथ दिया।

लोग 26/11 के पीड़ितों के वास्ते इंसाफ की मांग करते हुए टाइम्स स्क्वायर (Times Square) भी गये। उनके हाथों में भारत एवं अमेरिका के झंडे और पोस्टर थे। इन पोस्टरों पर ‘पाकिस्तान आतंकवाद बंद करो’ , ‘आतंकवाद के खिलाफ एकजुट हो जाओ’ , ‘आतंकवाद को ना कहें ‘ और ‘हमें इंसाफ चाहिए’ जैसे नारे लिखे थे। इस प्रदर्शन में भाग लेने पहुंचे न्यूजर्सी के गणेश अय्यर ने पीटीआई-भाषा से कहा कि पाकिस्तान ‘‘सीमापार आतंकवाद को समर्थना देना जारी रखे हुए है और वह आतंकवाद का केंद्र है।”

उन्होंने कहा,‘‘ आतंकवाद दुनियाभर में मानवजाति के लिए एक बड़ी चिंता है। पूरी दुनिया को एकजुट होकर मांग करनी चाहिए कि पाकिस्तान अपनी सरजमीं पर आतंकवादी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई करे।”

उन्होंने कहा कि मुम्बई हमले के 12 साल बाद भी पाकिस्तान ने 26/11 के गुनाहगारों के विरूद्ध कार्रवाई नहीं की जबकि इस हमले में अमेरिकियों, इस्राइलियों समेत कई देशों के नागरिक मारे गये थे। वाशिंगटन डीसी और अमेरिका के अन्य शहरों में भी पाकिस्तान के खिलाफ ऐसा ही प्रदर्शन किया गया।