A madrasa student arrested in Peshawar Madrasa blast case of Pakistan, a Madrasa cleric was on target

पेशावर: पाकिस्तान (Pakistan) के पेशावर (Peshawar) शहर में एक धार्मिक मदरसे में बम विस्फोट (Bomb Blast) की जांच कर रही टीम ने अपनी प्रारंभिक जांच पूरी कर ली है और इस सिलसिले में एक छात्र को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। पेशावर शहर में एक धार्मिक मदरसे में मंगलवार को एक शक्तिशाली बम विस्फोट हुआ था, जिसमें आठ लोगों की मौत हो गई थी।

जांच टीम में आतंकवाद विरोधी विभाग, पुलिस और कानून प्रवर्तन एजेंसियों के अधिकारी शामिल हैं। टीम ने कई चश्मदीदों के बयान दर्ज किए और मदरसा के छात्रों और वहां एक निर्माण कार्य में लगे मजदूरों का रिकॉर्ड हासिल किया।

अधिकारियों ने बताया कि मदरसे के एक छात्र को विस्फोट मामले में उसके कथित संबंधों को लेकर गिरफ्तार किया गया है। उस पर अफ़ग़ानिस्तान के एक वरिष्ठ मौलवी को निशाना बनाने का भी संदेह है। पेशावर की दीर कॉलोनी की स्थानीय मस्जिद में सुबह साढ़े आठ बजे विस्फोट हुआ था। यह मस्जिद एक धार्मिक मदरसे के रूप में भी काम करती है। विस्फोट तब हुआ जब छात्र कुरान पढ़ रहे थे। किसी भी समूह ने अभी तक हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

कानून प्रवर्तन एजेंसियों ने बम विस्फोट के सिलसिले में बुधवार को कुछ लोगों को हिरासत में लिया था। पुलिस ने बताया कि हमले में मदरसे के एक वरिष्ठ मौलवी शेख रहीमुद्दीन हक्कानी के साथ एक वर्ग को निशाना बनाया गया। अफ़ग़ानिस्तान नागरिक हक्कानी हमले में बच गये।

हक्कानी ने कहा कि स्थानीय पुलिस ने विस्फोट से तीन दिन पहले उन्हें संभावित हमले के बारे में सूचित किया था लेकिन उन्हें कोई सुरक्षा नहीं दी गई। इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ पेशावर में आतंकवाद निरोधक विभाग पुलिस थाने में एक प्राथमिकी दर्ज की गई है। (एजेंसी)