After the removal of Mark Asper, three of Trump's confidants were nominated for the post of defense minister

वॉशिंगटन: राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) द्वारा रक्षा मंत्री (Defense Minister) मार्क एस्पर (Mark Esper) को हटाने के एक दिन बाद उनके तीन विश्वासपात्र लोगों को रक्षा मंत्री पद के लिए नामित किया गया है। इन तीन लोगों में ‘फॉक्स न्यूज’ के पूर्व कमेंटेटर भी शामिल हैं जो इस्लाम सहित अन्य मुद्दों पर आक्रामक टिप्पणी के कारण सीनेट के लिए नहीं चुने जा सके।

इस अचानक बदलाव से नागरिक एवं सैन्यकर्मी आशंकित हैं कि पता नहीं, अगला नंबर किसका हो सकता है। साथ ही जो लोग ट्रंप के वफादार नहीं हैं वे भी इस घटनाक्रम को लेकर चिंतित हैं। निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) के शपथ लेने से एक महीने पहले ट्रंप प्रशासन (Trump Administration) द्वारा उठाए जाने वाले कदमों को लेकर पेंटागन (Pentagon) में चिंता बनी हुई है। इस बात को लेकर भी कयास लगाए जा रहे हैं कि क्या ऐतिहासिक रूप से गैर राजनीतिक रही सेना का राजनीतिकरण करने का बृहद् प्रयास होगा? 20 जनवरी को नये राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण से पहले हालांकि नीतिगत निर्णयों में बड़े बदलाव की उम्मीद नहीं है।

बहरहाल, चुनाव में हार स्वीकार करने से ट्रंप के मना करने के कारण सत्ता हस्तांतरण में बाधा आने की संभावना और बढ़ गई है। नीति के लिए कार्यवाहक उपमंत्री जेम्स एंडरसन ने मंगलवार की सुबह इस्तीफा दे दिया और उनकी जगह सेना के सेवानिवृत्त जनरल एंथनी टाटा को नियुक्त किया गया। कुछ समय बाद ही नौसेना से सेवानिवृत्त वायस एडमिरल जोसफ करनन ने खुफिया विभाग के उपमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। करनन के स्थान पर एजरा कोहेन वाटनिक को नियुक्त किया गया।