Mahatma Gandhi's great-granddaughter jailed for 7 years in South Africa for fraud and forgery
प्रतीकात्मक तस्वीर

    पैसों की लालच (Money greed) में इंसान इस कदर अंधा हो जाता है कि उसे अपने और पराए कोई भी नज़र नहीं आते। वह पैसों के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार होता है। आज हम आपको एक ऐसी ही घटना के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे सुन आपके पैरों तले ज़मीन खिसक जाएगी। यह घटना अमरीका के कैलिफोर्निया प्रांत के लॉस एंजिल्स (Los Angeles of California Province of USA) से सामने आई है। जहां एक शख्स ने अपने ही दो मासूम बच्चों को डुबोकर मार डाला, ताकि उसे बीमा (Insurance) के पैसे मिल सके। इतना ही नहीं वह इतना बेरहम है कि उसने अपनी पत्नी की भी हत्या करने की कोशिश की। इस क्रूर और हैवान शख्स का नाम अली एल्मेजायेन (Ali Elmezayen kill his son for insurance money) है। 

    हत्या की रची साजिश- 

    अली एल्मेजायेन नाम के शख्स ने पांच साल पहले अपने बच्चों को पैसों की लालच में आकर जान से मार डाला था। रिपोर्ट के मुताबिक, उसने बच्चों और पत्नी सहित कार पानी में कुदा दी थी। जहां वह कार का दरवाजा खोलकर बाहर निकल आया, लेकिन 8 साल और 13 साल के बच्चे और पत्नी कार में ही फंसे रहे। इस दौरान कुछ मछुआरों ने पानी में कूदकर उसकी पत्नी की जान तो बचा ली लेकिन बच्चों की मौत हो गई। बता दें कि एल्मेजायेन का तीसरा बच्चा भी है, लेकिन हादसे के वक्त वह उस कार में मौजूद नहीं था।  

    कोर्ट ने सुनाई 212 साल की सजा- 

    45 साल के अली एल्मेजायेन की हैवानियत की कहानी सुन कोर्ट में मौजूद जज की भी रूह कांप गई। अमेरिकी जिला न्यायाधीश जोहन आर वॉल्टर ने एल्मेजायेन को क्रूर, लालची और राक्षस बताते हुए 212 साल की जेल की सजा सुनाई। इन सबसे ज़्यादा शर्मनाक बात यह कि क्रूर पिता को अपने बच्चों को मारने का कोई दुख नहीं है। 

    30 लाख डॉलर का बिमा- 

    मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अली एल्मेजायेन ने जुलाई 2012 और मार्च 2013 के बीच आठ बीमा कंपनियों से अपने और अपने परिवार के लिए 30 लाख डॉलर यानी भारतीय करेंसी के हिसाब से करीब 21 करोड़ रुपए से भी ज़्यादा रुपयों की लाइफ और ऐक्सीडेंटल डेथ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदी थी। वह अक्सर जानकारी लेता रहता था कि क्या पत्नी और बच्चों की ऐक्सीडेंटल मौत के बाद उसे पैसे मिलेंगे। बीमा पॉलिसी खत्म होने के ठीक 12 दिन पहले एल्मेजायेन ने अपने बच्चों की मौत को एक दुर्घटना दिखाने के लिए उन्हें झील में डुबोकर मार डाला।