Biden's campaign to appeal to Hindu Americans for cooperation

न्यूयार्क: अमेरिका (America) की सबसे पुरानी विज्ञान पत्रिका ‘साइंटिफिक अमेरिकन’ (Scientific American) ने देश में राष्ट्रपति पद के चुनाव (Elections) में डेमोक्रेटिक (Democratic) उम्मीदवार जो बाइडेन (Joe Biden) का समर्थन करने का फैसला किया है। पत्रिका ने 175 वर्ष के अपने लंबे इतिहास में कभी राष्ट्रपति पद के चुनाव में किसी भी उम्मीदवार का अनुमोदन नहीं किया गया था।

पत्रिका की प्रधान संपादक लॉरा हेल्मथ ने मंगलवार को कहा कि डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडेन को समर्थ देने के मुद्दे पर बस थोड़ी सी अंदरूनी चर्चा हुई। हेल्मथ ने कहा कि पत्रिका को जितना अंदेशा था, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) का प्रशासन वैज्ञानिक समुदाय के लिए उससे कहीं ज्यादा खराब साबित हुआ है।

पत्रिका ने बाइडेन के प्रति अपना समर्थन मंगलवार को ऑनलाइन पोस्ट किया। इससे ठीक एक दिन पहले ट्रम्प ने कैलिफोर्निया के जंगलों में लगी आग को जलवायु परिवर्तन से जोड़ने पर सवाल खड़ा किया था। अमेरिकी वैज्ञानिकों ने कहा, ‘‘साक्ष्य और विज्ञान बताते हैं कि डोनाल्ड ट्रंप ने मूल रूप से अमेरिका और उसके लोगों को नुकसान पहुंचाया है क्योंकि वह सबूत और विज्ञान को नकारते हैं।”

वरिष्ठ संपादक जोश फिशमैन ने अपने संपादकीय में कोरोना वायरस महामारी से निपटने के तरीकों पर ट्रंप की तीखी निंदा की। पत्रिका में कहा गया कि बाइडेन का रिकॉड आंकडों को मानने वाला और विज्ञान पर चलने वाला रहा है।