Attack near 'Charlie Hebdo' office, 7 people in custody

पेरिस: व्यंग्य पत्रिका ‘शार्ली हेब्दो’ (Charlie Hebdo) के पेरिस (Paris) में पुराने कार्यालय के बाहर चाकू (Knife) से हमला करने के मामले में संदिग्ध हमलावर समेत सात लोगों को शनिवार को हिरासत में लिया गया। आतंकरोधी एजेंसियां मामले की जांच कर रही हैं । अधिकारियों ने इसे इस्लामी अतिवादी हमला बताते हुए ‘शार्ली हेब्दो’ पर 2015 में अलकायदा (Al Qaeda) के हमले से जोड़ा है। वर्ष 2015 में आतंकी हमले में 12 कर्मचारियों की मौत हो गयी थी।

धार्मिक और अन्य चर्चित शख्सियतों पर व्यंग्य करने वाली पत्रिका ने हाल में पैगंबर मोहम्मद (Prophet Muhammad) पर कार्टून प्रकाशित किए थे। कार्टून (Cartoon) को लेकर मुस्लिम समुदाय (Muslim Community) के कई लोगों ने रोष प्रकट किया था। गृह मंत्री गेराल्ड ड्रामानिन ने बताया कि शुक्रवार को चाकू मारने के लिए गिरफ्तार किए गए संदिग्ध को एक महीना पहले पेचकस के साथ पकड़ा गया था। हालांकि वह पुलिस की निगरानी में नहीं था।

उन्होंने कहा कि पेचकस को हथियार नहीं माना जाता है लेकिन इस बारे में ज्यादा कुछ नहीं बताया। मंत्री ने कहा कि संदिग्ध तीन साल पहले जब संभवत: पाकिस्तान से फ्रांस आया था, उस समय वह नाबालिग था लेकिन उसकी पहचान की पुष्टि की जा रही है। न्यायिक अधिकारियों के मुताबिक शुक्रवार के हमले के बाद सात लोगों को हिरासत में लिया गया लेकिन किसी को भी छोड़ा नहीं गया है।

‘शार्ली हेब्दो’ के पेरिस में पुराने कार्यालय के बाहर शुक्रवार के हमले में दो लोग घायल हो गए । इनमें से एक व्यक्ति वृत्त चित्र निर्माण कंपनी में काम करता है। गृह मंत्री ने माना कि जिस जगह हमला हुआ, वहां पर सुरक्षा व्यवस्था उतनी मजबूत नहीं थी। उन्होंने सभी महत्वपूर्ण स्थलों की सुरक्षा बढ़ाने का आदेश दिया है ।