Biden targets Trump's 'criminal' virus response
File

मूसिक (अमेरिका): राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडेन (Joe Biden) ने कोविड-19 (Covid-19) की स्थिति को संभालने को लेकर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) पर निशाना साधते हुए कहा कि महामारी को हलके में लेने का उनका कृत्य “आपराधिक” है और उनका प्रशासन “पूर्णत: गैरजिम्मेदार” है।

डेमोक्रेटिक पार्टी (Democratic Party) की तरफ से उम्मीदवार अपने गृहनगर स्क्रैनटन के बाहर मूसिक में सीएनएन द्वारा आयोजित एक ‘ड्राइव-इन’ टाउन हॉल कार्यक्रम में कहा, “आपको अमेरिकी लोगों को स्तर के बराबर आना होगा…। ऐसा समय नहीं है कि वे दखल नहीं दे सकते। राष्ट्रपति को पद छोड़ देना चाहिए।”

ट्रंप के यह स्वीकार करने कि वायरस की गंभीरता के बारे में जानने के बावजूद उन्होंने सार्वजनिक रूप से इसे हलके में दिखाया, का जिक्र करते हुए बाइडेन ने घोषणा की: “वह इसके बारे में जानते थे लेकिन कुछ नहीं किया। यह आपराधिक कृत्य जैसा है।”

बाद में महामारी पर काबू पाने को लेकर अमेरिका के संघर्ष पर निशाना साधते हुए बाइडेन ने अमेरिकियों की मौलिक “स्वतंत्रता” में कमी की आलोचना की, जैसे पहले वो बॉलगेम में जा सकते थे या आस-पड़ोस में घूम सकते थे। उन्होंने कहा, “मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं ऐसा व्यापक रूप से पूरी तरह गैरजिम्मेदार प्रशासन कभी देखूंगा।”

टाउन हॉल के प्रस्तोता एंडरसन कूपर और दर्शकों की तरफ से बाइडेन से कोरोना वायरस और संभावित टीके के बारे में करीब आधा दर्जन सवाल पूछे गए। महामारी रात्रि के इस आयोजन का मुख्य विषय नहीं था- लेकिन कार्यक्रम के अस्वाभाविक स्वरूप में आयोजन की वजह जरूर था क्योंकि यहां एक मैदान में 35 कार में सवार लोग इस ‘अलग’ टाउनहॉल कार्यक्रम का हिस्सा बने।

यहां हर गाड़ी को खड़ी करने के लिये स्थान तय किया गया था और मंच के चारों तरफ लोगों ने इन तय स्थानों पर अपनी गाड़ियां लगा रखी थीं। कुछ लोग गाड़ियों से बाहर निकले हुए थे तो कुछ गाड़ियों के अंदर और कुछ बोनट पर बैठे थे और सवाल कर रहे थे।

यह पहला मौका था जब डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से औपचारिक रूप से दावेदारी मिलने के बाद बाइडेन ने सीधे लोगों के सवालों का जवाब दिया हो। ट्रंप भी मंगलवार को फिलाडेल्फिया में एक ऑडिटोरियम में टाउनहॉल में शामिल हुए थे। इन्हें राष्ट्रपति पद के लिये बहस (प्रेसिडेंशियल डिबेट) से पहले महौल तैयार करने वाला माना जा रहा है। पहले चरण की बहस 29 सितंबर से होनी है।