राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो कोविड-19 के संदिग्ध इलाज का बने ‘पोस्टर ब्वॉय’

रियो डी जिनेरियो. कई महीनों से मलेरिया की दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन को कोविड-19 के इलाज में इस्तेमाल की बात करने वाले ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो ने सोशल मीडिया पर लाखों लोगों के सामने खुद इस दवा का सेवन करके खुद को मिसाल बना रहे हैं और दूसरों को इसके लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं जबकि कोविड-19 इलाज में इस दवा के सटीक होने की बात अब तक साबित नहीं हुई है। बोलसोनारो ने इस सप्ताह बताया था कि वह कोरोना वायरस से संक्रमित हैं लेकिन हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की वजह से पहले से अच्छा महसूस कर रहे हैं। इसके कुछ घंटे बाद उन्होंने एक वीडियो साझा किया जिसमें वह इस दवा का सेवन करते हुए नजर आए।

उन्होंने बताया है कि वह तीसरी खुराक ले रहे हैं। उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा, ‘‘ मैं हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन पर भरोसा करता हूं, और आप?” वह बुधवार को एक बार फिर फेसबुक पर इस दवा के फायदे बता रहे थे और दावा कर रहे थे कि उनके राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी उनकी नाकामी की कामना कर रहे हैं। ब्रिटेन और अमेरिका और साथ ही विश्व स्वास्थ्य संगठन के कई अध्ययनों में यह पाया गया कि क्लोरोक्वीन और हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन कोविड-19 के इलाज में अप्रभावी है और कभी-कभी यह हृदय पर विपरित प्रभावों की वजह से जानलेवा भी साबित हो सकता है। विपरित प्रभावों की वजह से कई अध्ययनों को रोक दिया गया। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का प्रचार कोविड-19 के इलाज के रूप में किया था।

 

इसके बाद बोलसोनारो ने इस दवाई के और भी घातक रूप, क्लोरोक्वीन को इस बीमारी के इलाज के रूप में प्रचार किया। हालांकि बोलसोनारो तो यहां तक कह चुके हैं कि यह वायरस कोई गंभीर चिकित्सकीय समस्या ही नहीं है। यूनिवर्सिटी ऑफ ब्रासीलिया के राजनीतिक विज्ञान के प्रोफेसर पाउलो कालमोन ने कहा, ‘’वह हाइड्रोक्सीक्लोक्वीन से कोविड का इलाज के पोस्टर ब्वॉय बन गए हैं।” बोलसोनारो ने घोषणा की थी कि वह देश की सेना को क्लोरोक्वीन का निर्माण तेज करने का निर्देश दे रहे हैं। ब्राजील की सेना ने इसके बाद 20 लाख गोलियां बनाईं जो कि देश के सालाना सामान्य उत्पादन से 18 गुणा ज्यादा है। हालांकि ब्राजील के गहन चिकित्सा दवा संघ ने यह दवा नहीं लेने की सलाह दी है और डॉक्टर इसका पालन कर रहे हैं।(एजेंसी)