कनाडा के स्कूल से मिले 215 बच्चों के शव, PM ट्रूडो ने कहा -रोमन कैथोलिक चर्च के बर्ताव से निराश हूं

    टोरंटो. कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो (Canada PM Justin Trudeau) ने शुक्रवार को कहा कि वह इस बात से ‘‘बेहद निराश” हैं कि एक आवासीय विद्यालय में 215 बच्चों के अवशेष मिलने के बाद रोमन कैथलिक चर्च (Catholic Church) ने औपचारिक माफी नहीं मांगी है। उन्होंने कहा कि गिरजाघरों ने कनाडा में उनके द्वारा संचालित जातीय बोर्डिंग स्कूलों की पूर्व की प्रणाली में अपनी भूमिका को लेकर कोई सुधार भी नहीं किया है। जिस संस्थान के परिसर में बच्चों के अवशेष मिले वह कभी देश का सबसे बड़ा आवासीय संस्थान था।

    ट्रूडो ने गिरजाघर को बरसों की चुप्पी के बाद ‘‘आगे बढ़कर” जिम्मेदारी लेने का आह्वान किया। ट्रूडो ने कहा, ‘‘पिछले कई वर्षों में और अब कैथलिक चर्च के रुख को लेकर एक कैथलिक होने के नाते मुझे बेहद निराशा हुई।” उन्होंने कहा, ‘‘जब कई साल पहले मैं वेटिकन गया था तब मैंने पोप फ्रांसिस से इस घटना पर सीधे तौर पर आगे बढ़कर क्षमा मांगने, भूल स्वीकार करने, पुनर्निर्माण, रिकॉर्ड को सार्वजनिक करने का अनुरोध किया था। लेकिन हमें अब भी गिरजाघर संभवत: कनाडा में गिरजाघर से प्रतिरोध देखने को मिल रहा है।” ट्रूडो ने कहा कि गिरजाघर ‘‘खामोश” हैं और ‘‘इस पर कोई कदम नहीं उठा रहे हैं।” उन्होंने कहा कि अगर गिरजाघर खुद इन दस्तावेजों को जारी नहीं करते हैं तो सरकार के पास ऐसे ‘‘तरीके” हैं जिनका वह इस्तेमाल कर सकती है। 19वीं शताब्दी से 1970 के दशक तक कनाडा में 1,50,000 से अधिक फर्स्ट नेशन (जातीय मूल) के बच्चों को कनाडा के समाज के अनुरूप खुद को ढालने के लिए सरकार वित्तपोषित ईसाई स्कूलों में पढ़ना होता था।

    कनाडा सरकार ने माना कि इन स्कूलों में बच्चों का शारीरिक एवं यौन शोषण होता था और मातृभाषा बोलने पर उनकी पिटाई होती थी। हालांकि वेटिकन के प्रवक्ता ने इस संबंध में कोई टिप्पणी नहीं की। वहीं, वेंकूवर के आर्कबिशप ने बुधवार को इस पर खेद जताया। यूनाइटेड, प्रेसबाइटेरियन और एंगलिकन गिरजाघरों ने भी उत्पीड़न में भूमिकाओं के लिए माफी मांगी है। कनाडा के प्रांत ब्रिटिश कोलंबिया में टीकेमलप्स ते सेक्वेपेम फर्स्ट नेशन की प्रमुख रोजेन कैसिमिर ने कहा कि ब्रिटिश कोलंबिया के कामलूप्स में एक स्कूल में जमीन के भीतर सक्षम ग्राउंड पेनिट्रेटिंग रडार की मदद से पता लगाने में पिछले महीने 215 बच्चों के अवशेष मिलने की पुष्टि हुई थी। (एजेंसी)