Captain blamed for scuba diving boat fire in California, 34 people had died in accident

लॉस एंजिलिस: कैलिफोर्निया (California) के समुद्री तट (Beach) पर एक स्कूबा डाइविंग नौका (Scuba Diving Boat) में आग (Fire) लगने और उसके डूबने के मामले में नौका के कप्तान (Yacht Captain) को मंगलवार को दोषी ठहराया गया। घटना में नौका की डेक के नीचे एक कमरे में फंसने के कारण 34 लोगों की मौत हो गयी थी।

अमेरिका में अब तक के सबसे भीषण समुद्री हादसे में शामिल इस घटना के लिए जिम्मेदार रहे जेरी बोएलान (67) पर नरसंहार, कदाचार, लापरवाही बरतने और कर्तव्य का पालन नहीं करने के आरोप हैं। आरोप में कहा गया है कि वह अपने चालक दल के सदस्यों को प्रशिक्षित करने और उन्हें अग्निशमन का प्रशिक्षण दिलाने में नाकाम रहे थे। घटना दो सितंबर, 2019 की है।

अमेरिकी अटॉर्नी निक हन्ना ने एक बयान में कहा, ‘‘कप्तान बोएलान की कथित नाकामी के कारण छुट्टी के इरादे से की गयी एक सुकून भरी यात्रा मातम में बदल गयी। नौका के यात्री और चालक दल के सदस्य आग लगने के कारण ऐसी जगह फंस गए जहां से बचकर निकलना मुश्किल था।” बोएलान और चालक दल के चार अन्य सदस्य घटना के वक्त सो रहे थे और किसी तरह वहां से बचकर निकलने में सफल रहे थे।

नौका के एक कमरे में मौजूद सभी 33 यात्रियों और चालक दल के एक सदस्य की आग में झुलसकर मौत हो गयी। इन आरोपों के लिए बोएलान को 10-10 साल जेल की सजा हो सकती है। संघीय अभियोजक ने कहा कि उन्होंने बोएलान को दोषी ठहराए जाने के बारे में उसके वकील को सूचित कर दिया है और आगामी सप्ताह में संघीय अधिकारियों के सामने उसके आत्मसमर्पण करने की संभावना है।