Amidst growing political tension, Maryam Nawaz said, 'The talks will take place only after the removal of the Imran government'

लाहौर: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ (Nawaz Sharif) की बेटी और विपक्षी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (Pakistan Muslim League-Nawaz) की उपाध्यक्ष मरियम नवाज़ (Maryam Nawaz) और उनकी पार्टी के 2,000 से अधिक कार्यकर्ताओं पर लाहौर (Lahore) में सरकार विरोधी रैली आयोजित करने के लिए मंगलवार को मामला दर्ज किया गया।

मरियम नवाज़ ने रैली में प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) को ‘कायर और कठपुतली’ करार दिया था तथा फौज के पीछे छिप जाने वाला बताया था। पाकिस्तान में 11 विपक्षी दलों के गठबंधन ‘पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट’ (पीडीएम) ने 16 अक्टूबर को यहां रैली आयोजित की थी। इसके बाद गुजरांवाला में जनसभा हुई थी। मरियम ने रैली में प्रधानमंत्री खान को खुलेआम ‘कायर और कठपुतली’ करार दिया था। उन्होंने कहा था कि इमरान खान ‘अपनी नालायकी को छिपाने के लिए फौज के पीछे जाकर छिप जाते हैं’।

मरियम ने प्रधानमंत्री को चुनौती दी थी कि उन्हें गिरफ्तार कराके दिखाएं और वह जेल जाने से नहीं डरतीं। सरकार और सरकारी संस्थाओं के खिलाफ नारेबाजी करके नागरिकों के लिए परेशानियां खड़ी करने, सड़कें अवरुद्ध करने, लाउडस्पीकर और माइक का इस्तेमाल करने तथा कोरोना वायरस संबंधी दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने के मामले में मरियम के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है।

मरियम के पति कैप्टन (सेवानिवृत्त) मोहम्मद सफदर का नाम भी एफआईआर में है। उन्हें पहले कथित रूप से कायद-ए-आजम की कब्र की पवित्रता की अवहेलना करने के मामले में कराची में गिरफ्तार किया गया था।

बाद में उन्हें जमानत पर छोड़ दिया गया। प्राथमिकी के अनुसार मरियम पर खान की सरकार की घर वापसी कराने के लिए तैयार रहने को कहकर पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को उकसाने के आरोप हैं। इससे पहले लाहौर पुलिस ने शरीफ और अन्य लोगों के खिलाफ सेना तथा न्यायपालिका के विरुद्ध बोलने के मामले में देशद्रोह का मामला दर्ज किया था।