Journalist Safety Committee condemned the targeting of journalists on social media

इस्लामाबाद: पाकिस्तान (Pakistan) में सोशल मीडिया (Social Media) पर कथित तौर पर देश और सेना को बदनाम करने के आरोप में पुलिस ने वरिष्ठ पत्रकार (Journalist) असद तूर के खिलाफ मामला दर्ज किया है। एक्सप्रेस ट्रिब्यून के वरिष्ठ पत्रकार असद तूर के खिलाफ रावलपिंडी में हाफिज एहतेशाम अहमद की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज की गई है।

हाफिज ने आरोप लगाया है कि तूर ने देश और सेना को बदनाम करने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया है। पत्रकार द्वारा अपने ट्विटर अकाउन्ट पर साझा की गई प्राथमिकी के मुताबिक, ‘‘शिकायतकर्ता ने दावा किया है कि वह सोशल मीडिया का नियमित उपयोगकर्ता है और उसने पाया कि तूर कुछ दिनों से उच्च स्तरीय सरकारी संस्थानों के खिलाफ अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल कर सेना को बदनाम कर रहे हैं, जो कानून के मुताबिक अपराध है।”

इस्लामाबाद में रहने वाले तूर ने इसे दुखद पल करार दिया है। उन्होंने कहा, ‘‘पत्रकार होने के नाते यह मेरे लिए दुखद घटना है क्योंकि मैंने कभी भी खुद खबरों में रहने की इच्छा नहीं की थी।” गौरतलब है कि तूर इकलौते पाकिस्तानी पत्रकार नहीं हैं जिनपर देश और शक्तिशाली सेना को कथित तौर पर बदनाम करने के लिए मामला दर्ज किया गया है या गिरफ्तार किया गया है।

एक्सप्रेस ट्रिब्यून के ही काम करने वाले बिलाल फारूकी को 11 सितंबर को सेना को बदनाम करने और जातीय घृणा फैलाने के आरोप में हिरासत में लिया गया था। (एजेंसी)