ARMY

बीजिंग. चीनी (CHINA) सेना ने पूर्वी लद्दाख (Laddakh) में भारतीय सेना द्वारा पकड़े गए उसके भटके हुए सैनिक को जल्द छोड़े जाने की उम्मीद जतायी है। चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के एक सैनिक को पूर्वी लद्दाख के डेमचोक सेक्टर में सोमवार को उस समय पकड़ लिया गया जब वह वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर ‘‘भटक कर” भारतीय क्षेत्र में आ गया था। यह घटना ऐसे समय हुयी है जब सीमा विवाद को लेकर दोनों देशों ने क्षेत्र में सैनिकों की तैनाती कर रखी है। भारतीय सेना ने सोमवार को एक बयान में कहा था कि चीनी सैनिक की पहचान कॉर्पोरल वांग या लान्ग के रूप में की गयी है।

सेना ने कहा कि चीनी सैनिक को सभी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद सौंप जाएगा। पीएलए के ‘वेस्टर्न थिएटर कमांड’ के प्रवक्ता वरिष्ठ कर्नल झांग शुइली ने सोमवार रात एक बयान में कहा , ‘‘ चीन को उम्मीद है कि 18 अक्टूबर की शाम स्थानीय चरवाहों के अनुरोध पर एक याक को वापस लाने में मदद करने के दौरान चीन-भारत सीमा इलाके में भटक गए चीनी सैनिक को भारत जल्द वापस कर देगा।” उन्होंने कहा, ‘‘ पीएलए सीमा सैनिकों ने घटना के बाद भारतीय सेना को सूचित किया और उम्मीद की कि भारतीय पक्ष खोज एवं बचाव अभियान में सहायता करेगा और भारतीय पक्ष ने मदद करने और लापता सैनिक को समय पर वापस करने का वादा किया।”

कर्नल झांग ने कहा कि भारत की ओर से मिली ताजा जानकारी के अनुसार भटक गया चीनी सैनिक मिल गया है और उसे चिकित्सकीय जांच के बाद चीन के हवाले किया जाएगा। झांग ने कहा, ‘‘ हम आशा करते हैं कि भारतीय सेना जल्द से जल्द लापता चीनी सैनिक को सौंपने के अपने वादे पर खरा उतरेगी और वरिष्ठ कमांडरों की सातवें दौर की बैठक में दोनों पक्षों में हुई सहमति का पालन करेगी ताकि सीमावर्ती क्षेत्र में शांति बनी रहे। ”