China's illegal construction activity near Indian border in Ladakh is a concern of worry: US
File

वाशिंगटन: लद्दाख (Ladakh) में भारतीय सीमा (Indian Border) पर चीन (China) की अवैध निर्माण गतिविधियों (Illegal Construction Activities) पर चिंता व्यक्त करते हुए अमेरिका (America) के एक प्रभावशाली सांसद ने कहा कि उनका देश हमेशा भारत के साथ खड़ा रहेगा और चीनी सरकार (Chinese Government) या किसी अन्य के बदलाव के प्रयास का विरोध करेगा जो क्षेत्र में शांति और स्थिरता के लिए चुनौती हो।

भारत और चीन के बीच मई से पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर गतिरोध चल रहा है। डेमोक्रेटिक पार्टी (Democratic Party) से कांग्रेस (Congress) के सदस्य राजा कृष्णमूर्ति ने मंगलवार को कहा, “भारत से लगती विवादित सीमा पर चीनी सेना द्वारा निर्माण की खबरों के बारे में मुझे जानकारी है और मैं इनसे चिंतित हूं। अगर यह रिपोर्ट सच हैं तो चीन के सैन्य उकसावे से क्षेत्र में तनाव बढ़ता रहेगा।”

उन्होंने कहा कि अमेरिका हिंद प्रशांत क्षेत्र में हमारे भारतीय साझेदार के साथ हमेशा खड़ा रहेगा और चीन या किसी अन्य द्वारा बदलाव के किसी भी प्रयास का विरोध करेगा जो शांति एवं स्थिरता को चुनौती हो। इलिनोइस से भारतीय अमेरिकी सांसद ने उपग्रह से ली गई तस्वरों के संबंध में बयान जारी किया है। इन तस्वीरों में दिख रहा है कि चीन पूर्वी लद्दाख में निर्माण गतिविधियां कर रहा है।

जुलाई में अमेरिकी प्रतिनिधिसभा ने अपना वार्षिक ‘नेशनल डिफेंस ऑथोराइजेशन’ अधिनियम पारित किया था। इसमें कृष्णामूर्ति का द्विदलीय संशोधन शामिल किया गया है जो वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारत की तरफ चीन की आक्रामकता को खत्म करने की मांग करता है। (एजेंसी)