कोरोना संकट : अगले 15 दिनों में अमेरिका में होगी सबसे ज्यादा मौतें : चिकित्सा सलाहकार

वाशिंगटन. दुनिया में कोरोना का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। दिन प्रतिदिन कोरोना वायरस का संक्रमण काफी तेजी से बढ़ रहा है। इस बिच अमेरिका में कोरोना के सबसे ज्यादा मरीज पाए गए है। अबतक अमेरिका

वाशिंगटन. दुनिया में कोरोना का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। दिन प्रतिदिन कोरोना वायरस का संक्रमण काफी तेजी से बढ़ रहा है। इस बिच अमेरिका में कोरोना के सबसे ज्यादा मरीज पाए गए है। अबतक अमेरिका में कोरोना वायरस से 1,४१,000 हजार लोग संक्रमित हुए है। साथ ही यह आकड़ा और बढ़ेगा। इस बिच अमेरिकी सरकार के वरिष्ठ चिकित्सा सलाहकारों ने भविष्यवाणी की है कि कोरोना से देश में एक लाख लोगों की मौत होगी। उन्होंने कहा कि अगले दो सप्ताह में यह अनुपात उच्चतम स्तर पर पहुंच जाएगा। इसलिए, ट्रम्प ने 30 अप्रैल तक सोशल डिस्टन्सिंग के नियम बढ़ाये है। 
 
बता दें कि, 12 अप्रैल को ट्रम्प ने दावा किया था कि, ईस्टर डे तक सब कुछ सुचारू हो जाएगा। साथ ही यूरोप में कोरोना के प्रकोप को देखते,अमेरिका में लॉकडाउन की घोषणा क्यों नहीं की गई, ऐसा सवाल पूछा जा रहा है। लेकिन ट्रम्प को उम्मीद थी की अमेरिका में जल्द ही सब कुछ सुचारु हो जायेगा। इसलिए देश लॉकडाउन नहीं किया था। हालांकि संयक्त राज्य अमेरिका में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के मरीजों में लगातार वृद्धि हो रही है। अबतक अमेरिका में 1,41,000 लोगों को कोरोना वायरस संक्रमित हुआ है। यह अनुपात दुनिया में सबसे अधिक है। वहीं अमेरिका में अब तक 2460 लोगों ने जान गवाई है।  

हालांकि, अब चिकित्सा सलाहकारों ने भविष्यवाणी की है कि, अगले दो हफ्तों में अमेरिका में कोरोना से सबसे तेजी से मौतें होंगी। इस पृष्ठभूमि के खिलाफ, ट्रम्प प्रशासन अब जाग गया है। ट्रम्प ने कहा कि, अमेरिकी लोग जितने संयम से व्यवहार करेंगे, उतने ही कम लोग कोरोना वायरस का शिकार होंगे। फिर भी अमेरिका में एक लाख लगों की मौत होगी ऐसा अनुमान है। 
 
चिकित्सा विशेषज्ञों का अनुमान है कि संयुक्त राज्य में कोरोनस से एक लाख लोग मारे जाएंगे। चिकित्सा सलाहकारों ने यह भी कहा कि, यदि इस अनुपात को एक लाख तक नियंत्रण में रखा जाता है, तो अमेरिका कोरोना को रोकने में सफल माना जाएगा। अन्यथा, मरने वालों की संख्या दो लाख से अधिक होगी।