Desert locust teams may move from East Africa to India, Pakistan next month: UN officials

संयुक्त राष्ट्र. संयुक्त राष्ट्र की खाद्य एवं कृषि एजेंसी के एक शीर्ष अधिकारी ने आगाह किया कि आजीविका और खाद्य सुरक्षा के लिए खतरा पैदा करने वाले मरुस्थलीय टिड्डियों का दल अगले महीने पूर्वी अफ्रीका से भारत और पाकिस्तान की ओर बढ़ सकते हैं और उनके साथ अन्य कीड़ों के झुंड भी आ सकते है। मरुस्थलीय टिड्डी को दुनिया में सबसे विनाशकारी प्रवासी कीट माना जाता है और एक वर्ग किलोमीटर में फैले एक झुंड में आठ करोड़ तक टिड्डी हो सकती हैं। खाद्य एवं कृषि संगठन (एफएओ) के सीनियर लोकस्ट फॉरकास्टिंग ऑफिसर कीथ क्रेसमैन ने कहा, ‘‘हर कोई जानता है कि हम दशकों में अब तक के सबसे खराब मरुस्थलीय टिड्डी हमले की स्थिति का सामना कर रहे हैं।”

उन्होंने कहा, ‘‘ये पूर्वी अफ्रीका में हैं जहां उन्होंने आजीविका तथा खाद्य सुरक्षा को दुष्कर बना दिया है लेकिन अब अगले महीने या उसके बाद ये अन्य इलाकों तक फैलेंगी और पश्चिम अफ्रीका की ओर बढ़ेंगी।” उन्होंने बृहस्पतिवार को एक ऑनलाइन सम्मेलन में कहा, ‘‘और ये हिंद महासागर पार करके भारत तथा पाकिस्तान जाएंगी।” मौजूदा वक्त में टिड्डियों का हमला केन्या, सोमालिया, इथियोपिया, दक्षिण ईरान और पाकिस्तान के कई हिस्सों में सबसे अधिक गंभीर है तथा जून में ये केन्या से इथियोपिया के साथ ही सूडान तथा संभवत: पश्चिम अफ्रीका तक फैलेंगी।(एजेंसी)