Paris climate agreement 'dangerous': Trump

वाशिंगटन. एच-1बी वीजा और अन्य गैर आव्रजक वीजा को अस्थाई तौर पर निलंबित करने के अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कदम और आव्रजन पर उनकी प्रतिबंधात्मक नीतियां अमेरिकी अर्थव्यवस्था के लिए हानिकारक होगी। अमेरिकी भारतीय व्यापार परिषद (यूएसबीआईसी) की अध्यक्ष निशा देसाई बिस्वाल ने पीटीआई-भाषा के साथ एक साक्षात्कार में यह बात कही। उन्होंने कहा, “यह (अधिघोषणा) दुर्भाग्यपूर्ण है।”

ट्रंप ने इस सप्ताह की शुरुआत में भारतीय आईटी पेशेवरों के बीच लोकप्रिय एच-1बी वीजा के साथ ही अन्य विदेश कार्य वीजा जारी करने पर इस साल के अंत तक रोक लगाने की अधिघोषणा जारी की थी। ट्रंप ने कहा था कि यह कदम लाखों अमेरिकियों की मदद के लिए जरूरी है जिन्होंने मौजूदा आर्थिक संकट की वजह से नौकरियां गंवा दी हैं।ट्रंप के इस कदम से यू एस चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स और यूएसआईबीसी सहमत नहीं हैं। बिस्वाल ने कहा,“ मुझे लगता है कि पिछले कई साल में एच1बी वीजा और एल1 बी वीजा के तहत अन्य देशों से उच्च-कौशल प्राप्त कर्मियों के आव्रजन से अमेरिका को खासकर तकनीक के क्षेत्र में खासा लाभ हुआ है।”(एजेंसी)