Forest Fire
AP/PTI Photo

    सैन फ्रांसिस्को (अमेरिका). अमेरिका (America) के पश्चिमी राज्यों में इस सप्ताहांत एक बार फिर गर्म हवाओं (Hot Winds) के चलने से अत्यधिक तापमान बढ़ने के कारण उत्तरी कैलिफोर्निया (California) में जंगल (Forest Fire) की आग बुझाने में दमकलकर्मियों को काफी संघर्ष करना पड़ा। नतीजतन क्षेत्र के भीतर और मरूस्थलीय भूभाग में भीषण गर्मी की चेतावनी जारी की गयी।

    राष्ट्रीय मौसम सेवा के मुताबिक कैलिफोर्निया के दक्षिण-पूर्व में स्थित डेथ वैली में शनिवार को 128 डिग्री फारेनहाइट (53 डिग्री सेल्सियस) तापमान दर्ज किया गया। एक दिन पहले फर्नेस क्रीक मरूभूमि में तापमान 130 डिग्री फारेनहाइट (54 डिग्री सेल्सियस) चला गया था। जुलाई 1913 के बाद से यह सबसे अधिक तापमान है जब फर्नेस क्रीक मरूभूमि में 134 डिग्री फारेनहाइट (57 डिग्री सेल्सियस) तापमान दर्ज किया गया था जो धरती पर अब तक का सबसे अधिक तापमान बताया जाता है।

    मरूभूमि के करीब 483 किलोमीटर दूर उत्तर पश्चिम में लगी आग नेवादा की सीमा तक पहुंच गयी है। बेकवर्थ कॉम्प्लेक्स में लगी आग लेक ताहोए के उत्तर में 45 मील (72 किलोमीटर) के क्षेत्र को जद में ले चुकी है तथा आग के और भड़कने से सिएरा नेवादा वन क्षेत्र से उत्तर पूर्व की ओर बढ़ रहे दावानल के कम होने का कोई संकेत भी नहीं दिख रहा। आग 222 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र तक फैल गयी और दमकलकर्मी महज आठ प्रतिशत क्षेत्र में ही इस पर काबू पा सके हैं।

    भीषण गर्म हवाओं से लपटों के साथ धुंए का गुबार देखा गया और गर्म हवाएं आग को और भड़काने का काम कर रही हैं। राष्ट्रीय मौसम सेवा ने कहा है कि आग के कारण खतरनाक मौसम से लोग बीमार हो सकते हैं वहीं कैलिफोर्निया के पावर ग्रिड संचालक ने शनिवार को शाम चार बजे से रात नौ बजे तक बिजली आपूर्ति बाधित होने की आशंका जतायी।

    ‘कैलिफोर्निया इंडिपेंडेंट सिस्टम’ ने भी बिजली आपूर्ति कम होने का अनुमान जताया है। गवर्नर गेविन न्यूसम ने शुक्रवार को आपात घोषणा जारी की और आईएसओ ने अन्य राज्यों से आपात सहायता का अनुरोध किया है। दक्षिणी कैलिफोर्निया के पाम स्प्रिंग्स में शनिवार को 120 डिग्री फारेनहाइट (49 डिग्री सेल्सियस) तापमान दर्ज किया गया। इस साल यहां चौथी बार तापमान 120 डिग्री फारेनहाइट पर पहुंच गया। (एजेंसी)