द्विपक्षीय दौरे पर पहली बार कुवैत पहुंचे विदेश मंत्री एस जयशंकर, भारतीय समुदाय को करेंगे संबोधित

    कुवैत सिटी. विदेश मंत्री एस. जयशंकर (S. Jaishankar) द्विपक्षीय संबंधों (Bilateral Visit) को मजबूत करने बृहस्पतिवार को कुवैत (Kuwait) पहुंचे। राजनयिक सूत्रों ने बताया कि इस दौरे का उद्देश्य तेल सम्पन्न खाड़ी देश के साथ भारत के संबंधों को मजबूत करना है। दोनों देशों ने करीब तीन महीने पहले ऊर्जा, व्यापार, निवेश और श्रम तथा सूचना प्रौद्योगिकी जैसे क्षेत्रों में संबंधों को मजबूती प्रदान करने के लिए एक रूपरेखा बनाने के उद्देश्य से ‘मंत्री स्तरीय संयुक्त आयोग’ स्थापित करने का निर्णय किया था।

    कुवैत के विदेश मंत्री शेख अहमद नसीर अल-मोहम्मद अल-सबाह (Sheikh Mohammad Naseer al-Mohammad al-Sabah) मार्च में भारत गए थे, उसी दौरान दोनों पक्षों ने संयुक्त आयोग के गठन का फैसला किया था। कुवैत में भारत के दूतावास ने ‘इंडिया कुवैत फ्रेंडशिप’ हैशटैग के साथ बृहस्पतिवार को ट्वीट किया, ‘‘भारत के माननीय विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर द्विपक्षीय यात्रा पर कुवैत पहुंचे और उनकी अगवानी राजदूत ने की।” वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से निपटने के लिए भारत की मदद करने की खातिर कुवैत ने राहत सामग्री एवं मेडिकल ऑक्सीजन भेजी है। बीते कुछ हफ्तों में भारतीय नौसेना के पोत कुवैत से बड़ी मात्रा में मेडिकल ऑक्सीजन लेकर भारत गए हैं। (एजेंसी)