‘शिक्षा’ भारत और अमेरिका के संबंधों का महत्वपूर्ण स्तंभ है : राजदूत संधू

    वॉशिंगटन. अमेरिका (America) में भारत के राजदूत तरणजीत सिंह संधू (Taranjit Singh Sandhu) ने कहा कि शिक्षा भारत एवं अमेरिका की साझेदारी (India-US Partnership) का अहम स्तम्भ है। संधू ने डेविस स्थित ‘यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया’ (University of California) के चांसलर गैरी मे के साथ डिजिटल बैठक के बाद बताया कि कृषि, स्वास्थ्य, डिजिटल एवं जलवायु परिवर्तन के क्षेत्रों में ज्ञान एवं अनुसंधान साझेदारी की बड़ी संभावनाओं के बारे में उनकी चांसलर मे और उनकी टीम से अच्छी बातचीत हुई।

    संधू ने चांसलर मे के साथ बैठक के बाद ट्वीट किया, ‘‘शिक्षा भारत और अमेरिका के बीच साझेदारी का अहम स्तम्भ है।” चांसलर मे को 2015 में अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा ने विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित में छात्रों का मार्गदर्शन करने के लिए ‘प्रेजीडेंट अवार्ड फॉर एक्सीलेंस’ से सम्मानित किया था। विज्ञान एवं इंजीनियरिंग के क्षेत्रों में कम प्रतिनिधित्व वाले समूहों की भागीदारी बढ़ाने में असाधारण नेतृत्व के लिए ‘अमेरिकन एसोसिएशन फॉर द एडवांसमेंट ऑफ साइंस’ ने उन्हें 2021 में प्रतिष्ठित ‘लाइफटाइम मेंटर अवार्ड’ से नवाजा।

    यह विश्वविद्यालय ऐसे क्षेत्र के बीचोबीच स्थित है, जिसके अमेरिकी सिख समुदाय के साथ ऐतिहासिक संबंध हैं। इस क्षेत्र में पंजाब से आए कई प्रवासी रहते हैं। अमेरिका में सिखों की आधी आबादी कैलिफोर्निया में ही रहती है। पंजाब के प्रवासियों की कहानियों और इतिहास को संरक्षित करने और कैलिफोर्निया राज्य में उनके योगदान को साझा करने के लिए विश्वविद्यालय ने वीडियो, तस्वीरों और अन्य दस्तावेजों का एक संग्रह बनाया है। (एजेंसी)