भारतीय कंपनी ईईएसएल ने ब्रिटेन में 15 करोड़ पौंड निवेश की योजना

लंदन. भारत की सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एनर्जी एफिशिएंसी लि. (ईईएसएल) ने ब्रिटेन और आयरलैंड के बाजार में इस साल 15 करोड़ ब्रिटिश पौंड के निवेश की योजना बनायी है। बिजली मंत्रालय के सार्वजनिक उपक्रमों की संयुक्त उद्यम ईईएसएल की ब्रिटेन में संयुक्त उद्यम एनर्जी प्रो एसेट्स लि. (ईपीएएल) के तहत किये जाने वाले निवेश में विकेंद्रित ऊर्जा प्रणाली पर जोर दिया जाएगा। यह प्रणाली दक्ष रूप से बिजली उपलब्ध कराने के साथ ‘हीटिंग’ और ‘कूलिंग’ भी उपलब्ध कराती है।

ईईएसएल ने कहा कि 15 करोड़ ब्रिटिश पौंड का निवेश ब्रिटेन और आयरलैंड के बाजार में संबंधित परियोजनाओं (ऊर्जा, हीट एवं कूलिंग) के विकास, वित्त पोषण और एडिना का आधार आस्ट्रेलिया में विस्तार करने में किया जाएगा। ईईएसएल और ब्रिटेन की परामर्श कंपनी एनर्जी प्रो लि. की संयुक्त उद्यम ईपीएएल हाल में ब्रिटेन में तीव्र वृद्धि वाली भारतीय कंपनी के रूप में उभरी है। ब्रिटेन की ‘हीट एंड पावर’ कंपनी एडिना के अधिग्रहण के बाद से भारतीय कंपनी का तीव्र विकास हुआ है। ईईएसएल के प्रबंध निदेशक सौरभ कुमार ने कहा, ‘‘जलवायु परिवर्तन और ऊर्जा संक्रमण पर भारत-ब्रिटेन भागीदारी को मजबूत बनाने में ईपीएएल का गठन मील का पत्थर है।” उन्होंने कहा, ‘‘हमारी रणनीति खुद से आगे बढ़ने की है। ईपीएएल ने ब्रिटेन में स्वच्छ ऊर्जा के क्षेत्र में काम करने वाली कंपनी का अधिग्रहण किया…इस अधिग्रहण ने ईईएसएल को एक साथ गैस आधारित बिजली उत्पादन, ‘कूलिंग’ और गर्माहट’ पैदा करने वाली परियोजनाओं को आगे बढ़ाने का अवसर दिया है।” ईपीएएल की तरफ से ब्रटेन की कंपनी एडिना के सीईओ एच रिचमंड ने कहा कि कंपनी की दुनिया भर में हरित बिजली और ‘कूलिंग’ तकनीक के प्रसार की योजना है। (एजेंसी)