निजता अपडेट को लेकर यूरोपीय संघ के उपभोक्ता समूहों ने व्हाट्सऐप के खिलाफ शिकायत दायर

    लंदन: यूरोपीय संघ के उपभोक्ता समूहों ने फेसबुक के स्वामित्व वाली मैसेजिंग सेवा व्हाट्सऐप के खिलाफ निजता अपडेट को लेकर शिकायत दायर की है। समूहों का कहना है कि व्हाट्सऐप उपयोगकर्ताओं पर एक नए निजता अपडेट को स्वीकार करने के लिए गलत तरीके से दबाव डाल रही है और यह यूरोपीय संघ के नियमों का उल्लंघन है।

    यूरोपियन कंज्यूमर ऑर्गेनाइजेशन (बीईयूसी) ने व्हाट्सएप द्वारा उसकी सेवा की शर्तों और निजता नीति में बदलाव करने के तरीकों को लेकर सोमवार को शिकायत दायर किया और कहा कि वे पारदर्शी नहीं हैं या उपयोगकर्ताओं को आसानी से समझ में नहीं आते हैं। 

    इस साल की शुरुआत में व्हाट्सऐप द्वारा निजता अपडेट लाए जाने के साथ बहुत सारे उपयोगकर्ताओं ने निजता से जुड़ी चिंताओं को देखते हुए सिग्नल और टेलीग्राम जैसे दूसरे चैट ऐप का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया था। व्हाट्सऐप के निजता नीति अपडेट को लेकर यह चिंताएं उठ रही हैं कि इन बदलावों से फेसबुक को उपयोगकर्ताओं के बारे में और निजी जानकारी हासिल करने में मदद मिलेगी।

    बीईयूसी की महानिदेशक मोनिक गोयन्स ने कहा, “व्हाट्सऐप महीनों से उपयोगकर्ताओं पर आक्रामक तरीके से और लगातार स्क्रीन पर आने वाले संदेशों के साथ बमबारी कर रहा है ताकि उन्हें अपनी उपयोग की नयी शर्तों और निजता नीति को स्वीकार करने के लिए मजबूर किया जा सके।”

    मोनिक ने कहा, “वे उपयोगकर्ताओं से कह रहे हैं कि नयी शर्तों को ना स्वीकार करने पर उनकी ऐप की सेवा बंद कर दी जाएगी। इसके बावजूद उपभोक्ताओं को नहीं पता कि वे असल में क्या स्वीकार रहे हैं।” बीईयूसी और आठ सदस्य देशों के उपभोक्ता अधिकार समूहों ने यूरोपीय संघ के कार्यकारी आयोग और उपभोक्ता प्राधिकरणों के नेटवर्क के समक्ष शिकायत दायर किया है।