भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे द अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति जांच आयोग के सामने पेश हुए

जोहानिसबर्ग. दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति (Ex-South Africa president) जैकब जुमा (Jacob Zuma) सोमवार को एक आयोग के सामने पेश हुए। जुमा 2009 से 2018 के बीच राष्ट्रपति थे। इस दौरान कथित तौर पर हुए भ्रष्टाचार (Corruption) के आरोपों की जांच आयोग कर रहा है। एक साल पहले वह आयोग के सामने अपने बयान से मुकर गए थे जिसके बाद पहली बार जुमा आयोग के समक्ष प्रस्तुत हुए। भ्रष्टाचार और धोखाधड़ी के आरोपों के बीच जुमा को 2018 में पद से हटना पड़ा था।

आयोग के पास मुकदमा चलाने के अधिकार नहीं हैं लेकिन इसके सामने उजागर होने वाली जानकारी के आधार पर अन्य कानून प्रवर्तन एजेंसियां आरोपी के विरुद्ध आपराधिक मामला चला सकती हैं। सोमवार को जुमा ने आयोग के अध्यक्ष उप मुख्य न्यायाधीश रेमंड जोंडो के नाम एक आवेदन दाखिल किया जिसमें कहा गया कि जोंडो पक्षपाती हैं इसलिए जुमा को उनसे बचाया जाए। जुमा के वकील मुजी सिखाखाने ने आयोग को बताया कि जुमा को लगता है कि आयोग के अध्यक्ष का रवैया पक्षपाती है और आयोग के सामने पेश होने वाले चश्मदीदों के चयन को देखते हुए यह पता चलता है कि अध्यक्ष ने जुमा को अपराधी मान लिया है।(एजेंसी)