A madrasa student arrested in Peshawar Madrasa blast case of Pakistan, a Madrasa cleric was on target

पेशावर: उत्तर पश्चिमी पाकिस्तान (Pakistan) के पेशावर (Peshawar) शहर में मंगलवार को एक शक्तिशाली बम विस्फोट (Bomb Blast) हुआ, जिसमें कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई जबकि 120 से अधिक अन्य घायल हो गए। इनमें ज्यादातर बच्चे हैं। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी दी।

पेशावर के पुलिस प्रमुख मुहम्मद अली खान ने संवाददाताओं को बताया कि पेशावर की दीर कॉलोनी की स्थानीय मस्जिद में सुबह 8:30 बजे विस्फोट हुआ। यह मस्जिद एक धार्मिक मदरसे के रूप में भी काम करती है। विस्फोट तब हुआ जब छात्र कुरान पढ़ रहे थे। खैबर पख्तूनख्वा के मुख्यमंत्री के सूचना सलाहकार कामरान बंगश और एलआरएच अस्पताल के प्रवक्ता आसिम खान ने पुष्टि की है कि हमले में आठ लोगों की मौत हो गई जबकि 124 अन्य घायल हो गए।

बंगश ने कहा कि विस्फोट की पूरी तरह जांच की जाएगी और अपराधियों को सजा दी जाएगी। उन्होंने कहा, ‘‘जो लोग आतंक फैलाते हैं वे अपने मकसद में कभी कामयाब नहीं होंगे।” किसी भी समूह ने अभी तक हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। पेशावर शहर के पुलिस अधीक्षक वकार अज़ीम ने कहा कि पेशावर शहर की दीर कॉलोनी में स्थित मदरसे में फज्र (सुबह) की नमाज के बाद विस्फोट हुआ। किसी अज्ञात व्यक्ति ने विस्फोटक सामग्री से भरा बैग मदरसे की दीवार के पास रखा था।

उन्होंने बताया कि शायद बैग में आईईडी रखा हुआ था। आतंवाद निरोधक विभाग (सीटीडी) के एक अधिकारी ने बताया कि विस्फोट में 4 से 5 किलोग्राम विस्फोटक का इस्तेमाल किया गया।

अधिकारी ने बताया कि मरने वालों में ज्यादातर बच्चे 7-11 साल की उम्र के थे। इनमें से कई अफगानिस्तान के थे। अस्पताल के अधिकारियों ने पुष्टि की कि उन्हें विस्फोट में मारे गए सात बच्चों के शव मिले हैं और 70 लोग घायल हुए हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने हमले की निंदा की और घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की।

उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ‘‘पेशावर में मदरसे पर हुए आतंकवादी हमले से बहुत दुखी हूं। मेरी संवेदनाएं पीड़ित परिवारों के साथ हैं और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की दुआ करता हूं। मैं अपने देश को आश्वस्त करना चाहता हूं कि इस कायरतापूर्ण बर्बर हमले के लिए जिम्मेदार आतंकवादियों को सख्त सजा मिलेगी।” खैबर पख्तूनख्वा के पुलिस प्रमुख सनाउल्ला अब्बासी ने मरने वालों की संख्या की पुष्टि की है। पुलिस के अनुसार, जब बम विस्फोट हुआ तब लगभग 40-50 बच्चे मदरसे के भीतर मौजूद थे।

मदरसा प्रशासन ने कहा कि संस्था में लगभग 1,100 छात्र पढ़ते हैं। खैबर पख्तूनख्वा के मुख्यमंत्री महमूद खान ने बच्चों पर हमले की निंदा की। इलाके की घेराबंदी कर दी गई है और पुलिस की टीमें सबूत इकट्ठा कर रही हैं।

खैबर पख्तूनख्वा स्वास्थ्य मंत्री तैमूर सलीम झागरा ने घटना स्थल का दौरा किया। पत्रकारों से बात करते हुए, उन्होंने कहा कि घायल लोगों को जल्द ठीक करने के लिए हरसंभव उपचार प्रदान किया जा रहा है। पीएमएल-एन की उपाध्यक्ष मरियम नवाज ने इसे “दिल दहला देने वाली” घटना करार दिया।