Facebook removed Trump's advertisement for using Nazi signs

वाशिंगटन. सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और देश के उप राष्ट्रपति माइक पेंस के उन प्रचार विज्ञापनों को हटा दिया है, जिनमें लाल रंग के उल्टे त्रिकोण को इस्तेमाल किया गया था। इस संकेत का इस्तेमाल नाजियों ने राजनीतिक कैदियों, साम्यवादियों और हिरासत केंद्रों में बंद अन्य लोगों के लिए किया था। कंपनी की सुरक्षा नीति प्रमुख नैथेनियल ग्लीचर ने बृहस्पतिवार को प्रतिनिधि सभा की खुफिया समिति के समक्ष विज्ञापन हटाए जाने की पुष्टि करते हुए कहा कि फेसबुक घृणा फैलानी वाली विचारधारा से जुड़े किसी भी संकेत को दिखाने की अनुमति तब तक नहीं देता, ‘‘जब तक कि वह किसी संदर्भ के साथ या निंदा करने के लिए इस्तेमाल न किया जाए।”

ग्लीचर ने कहा, ‘‘जब इन दोनों में से किसी भी मकसद से संकेत का इस्तेमाल नहीं किया जाता, तो हम इसे फेसबुक मंच पर दिखाने की अनुमति नहीं देते हैं और हटा देते हैं। हमने इस मामले में भी यही किया और जहां कहीं भी इस संकेत का इस्तेमाल किया जाएगा, हम इसी तरह के कदम उठाएंगे।” इस विज्ञापन को बुधवार को जारी किया गया था। ट्रंप के प्रचार अभियान के संपर्क निदेशक टिम मुर्तो ने कहा कि लाल रंग के इस त्रिकोण का इस्तेमाल ‘एंटीफा’ ने किया था, इसलिए इसका इस्तेमाल किया गया।

उन्होंने कहा कि यह संकेत ‘एंटी-डिफेमेशन लीग’ में घृणा फैलाने वाले संकेतों की सूची में शामिल नहीं है। एंटीफा शब्द का इस्तेमाल धुर वामपंथी सोच रखने वाले उन लोगों के लिए किया जाता है, जो किसी संगठनात्मक ढांचे से नहीं बल्कि विचारधारा से बंधे होते हैं। ट्रंप ने अमेरिका में हाल के विरोध प्रदर्शनों में भड़की हिंसा के लिए एंटीफा को जिम्मेदार ठहराया था, लेकिन संघीय कानून प्रवर्तन अधिकारियों के पास इस संबंध में सबूत न के बराबर हैं।(एजेंसी)