Facebook removes fake accounts posting in support of Trump

मेनलो पार्क (अमेरिका): फेसबुक (Facebook) ने ऐसे 276 अकाउंट हटा दिए हैं जिनका इस्तेमाल फर्जी तौर पर दक्षिणपंथी अमेरिकी (Americans) लोगों के रूप में किया जाता था तथा इन अकाउंट से ऐसे समाचार पर टिप्पणी की जाती थी। अकसर ये टिप्पणियां राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के पक्ष में होती हैं। कंपनी ने बृहस्पतिवार को इस बाबत घोषणा की।

फेसबुक ने एरिजोना की एक डिजिटल कम्युनिकेशन कंपनी पर भी स्थायी प्रतिबंध लगा दिया जिसके बारे में उसका कहना है कि इन फर्जी अकाउंट (Fake Accounts) के पीछे इस कंपनी का हाथ है। पिछले महीने ‘दि वाशिंगटन पोस्ट’ ने रिपोर्ट दी थी कि ट्रंप समर्थक समूह (Trump Supporter Group) ‘टर्निंग पॉइंट ऐक्शन’ किशोरों को समन्वित रूप से समर्थनकारी संदेश भेजने के लिए पैसे दे रहा है जो फेसबुक के नियमों का उल्लंघन है।

फेसबुक और ट्विटर (Twitter) ऐसे फर्जी अकाउंट हटाते रहती हैं जो अमेरिकी राजनीतिक विमर्श में दखल देकर चुनाव को प्रभावित करने के प्रयास करते हैं। जिन अकाउंट के नेटवर्क को फेसबुक ने हटाया है वे मध्यावधि चुनाव से पहले 2018 में सक्रिय हुए थे और जून तक निष्क्रिय थे। लेकिन तब से इन अकाउंट ने कोरोना वायरस महामारी, डेमोक्रेटिक पार्टी और उसके उम्मीदवार जो बाइडेन की आलोचना, रिपब्लिक पार्टी के उम्मीदवार ट्रंप तथा अन्य नेताओं की सराहना जैसे विषयों पर सक्रियता दिखाई।

फेसबुक का मानना है कि ये अकाउंट ऐरिजोना की कंपनी रैली फोर्ज चला रही थी। फेसबुक ने कहा, ‘‘इस नेटवर्क के पीछे जो लोग हैं उन्होंने अपनी पहचान और समन्वित कामों को छिपाने के प्रयास किए लेकिन हमारी जांच में पता चला कि इनका संबंध रैली फोर्ज से है।”

इसमें यह भी कहा गया कि रैली फोर्ज टर्निंग पाइंट यूएसए के लिए काम करती है। संगठन की ओर से आए बयान के मुताबिक यह काम स्वतंत्र राजनीतिक एक्शन समिति टर्निंग पॉइंट ऐक्शन द्वारा किया गया। टर्निंग पॉइंट ऐक्शन ने कहा कि किसी भी तरह की गलतफहमी दूर करने के लिए वह इस बारे में फेसबुक के साथ मिलकर काम करेगी।