Floods in south-east Australia, power cut in more than two lakh homes
Representative Image

    मेलबर्न: दक्षिणपूर्व ऑस्ट्रेलिया (Australia) में तूफान और बाढ़ (Storm and Flood) के कारण पेड़ उखड़ गए, लोग कारों तथा घरों में फंस गए और 2,00,000 से अधिक घरों की बत्ती गुल (Electricity) हो गयी। मौसम विज्ञानी केविन पार्किन ने कहा कि विक्टोरिया राज्य और उसकी राजधानी मेलबर्न में बुधवार रात को 119 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चली और 20 सेंटीमीटर तक बारिश हुई। किसी को गंभीर चोट आने की कोई खबर नहीं है। राज्य आपात सेवा के प्रमुख अधिकारी टिम वीबुश ने कहा कि बृहस्पतिवार को भी तेज हवाओं के साथ बारिश हुई और नदियां उफान पर हैं।

    मेलबर्न के पूर्व में 220 घरों को खाली कराने का आदेश दिया गया है। अधिकारियों ने बताया कि ऑस्ट्रेलिया के दूसरे सबसे अधिक आबादी वाले राज्य में 2008 के बाद से कभी इतनी प्रचंड हवाएं नहीं चली और न ही इतनी बारिश हुई। बाढ़, भूस्खलन और पेड़ गिरने के कारण प्रमुख सड़कों को बंद कर दिया गया है। बिजली के तारों के गिरने से भी खतरा पैदा हो गया है। विक्टोरिया में 2,00,000 से अधिक घरों की बत्ती गुल हो गयी है। आपात सेवाओं को मदद के लिए 5,000 से अधिक फोन आए हैं और इनमें से 3,500 फोन घरों पर पेड़ गिरने तथा लोगों के फंसने से संबंधित थे।

    पुलिस तथा राज्य एम्बुलेंस सेवा ने बताया कि 40 साल की उम्र के आसपास की एक महिला को अस्पताल ले जाया गया। उसके घर पर एक पेड़ गिरने से उसके सिर में चोट आयी है। विक्टोरिया की उत्तरी सीमा पर ऑस्ट्रेलिया के सबसे अधिक आबादी वाले राज्य न्यू साउथ वेल्स में बृहस्पतिवार को भारी हिमपात के कारण सैकड़ों घरों की बिजली आपूर्ति ठप्प हो गयी।