Four Rohingya refugees killed in clash between two factions in Bangladesh

ढाका: बांग्लादेश (Bangladesh) की पुलिस ने बताया कि मंगलवार देर रात रोहिंग्या शरणार्थियों (Rohingya Refugees) के एक शिविर में दो अपराधी गुटों ने एक-दूसरे पर हमला किया और इस घटना में कम से कम चार लोगों की मौत हो गई।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रफीकुल इस्लाम ने बताया कि कॉक्स बाजार जिले के उखिया के कुतुपालोंग में दोनों गुटों ने एक-दूसरे पर देसी बंदूकों और धारदार हथियारों से हमला किया। इस घटना में 20 अन्य शरणार्थी घायल भी हो गए। उन्होंने बताया कि जिले के शिविरों में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। इन स्थानों पर म्यामां से आए 700,000 रोहिंग्या शरणार्थियों ने शरण ली हुई है।

अधिकारी ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से क्षेत्र में अपना अधिपत्य जमाने के लिए हो रही झड़पों में कम से कम सात रोहिंग्या शरणार्थियों की मौत हो चुकी है। इसमें मंगलवार को मारे गए लोग भी शामिल हैं। बांग्लादेश प्रशासन एवं खुफिया अधिकारी लंबे समय से यह कहते रहे हैं कि यहां रह रहे कई शरणार्थी मादक पदार्थों की तस्करी, डकैती और फिरौती जैसे अपराधों में शामिल हैं।

इससे पहले मंगलवार को सुरक्षा ‘एजेंसी रैपिड एक्शन बटालियन’ ने नौ शरणार्थियों को विभिन्न अपराधिक गतिविधियों में शामिल रहने के संदेह में गिरफ्तार किया था। वहीं शिविरों में काम करनेवाले मानवाधिकार समूहों का भी कहना है कि रोहिंग्या शरणार्थियों के बीच आपराधिक तत्व भी रह रहे हैं।