Nearly 6 percent of Indian-Americans are living below the poverty line: report

वाशिंगटन: अमेरिकी विदेश मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि आतंकवादी संगठन हिज्बुल्ला (Hizbullah) ने कई यूरोपीय देशों (European Countries) में विस्फोटक (Explosives) बनाने के लिए रसायन इकट्ठा किया है और साथ ही यूरोप तथा अन्य देशों से उसपर प्रतिबंध लगाने की अपील की।

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के ‘काउंटर टेररिज्म’ (Counter Terrorism) के समन्वयक नैथल सेल्स ने कहा कि हिज्बुल्ला के गुर्गों ने हाल के वर्षों में बेल्जियम से फ्रांस, यूनान, इटली, स्पेन और स्विट्जरलैंड में अमोनियम नाइट्रेट स्थानांतरित किया है और यूरोपीय देशों में इसे इकट्ठा करने का भी संदेह है।

सेल्स ने सबूत पेश करते हुए कहा कि अमेरिका (America) का मानना है कि ईरान (Iran) समर्थित हिज्बुल्ला 2012 से यूरोप भर में ‘फर्स्ट एड किट’ (First Aid Kit) में अमोनियम नाइट्रेट (Ammonium Nitrate) छिपाकर स्थानांतरित कर रहा है। अमेरिका का मानना है कि अब भी पूरे यूरोप में, संभवत: यूनान, इटली और स्पेन में इसकी आपूर्ति की जा रही है। उन्होंने कहा, ‘‘ हिज्बुल्ला का अमोनियम नाइट्रेट का भंडार यूरोपीय मिट्टी पर क्या करेगा?”

सेल्स ने कहा, ‘‘ इसका जवाब स्पष्ट है, हिज्बुल्ला बड़े आतंकवादी हमलों के लिए इन्हें इकट्ठा कर रहा है ताकि तेहरान में बैठे अपने सरगना के आदेश पर इन्हें अंजाम दे सके।” सेल्स ने अमेरिकी यहूदी समिति की और से ऑनलाइन आयोजित एक कार्यक्रम में यह बयान दिया। इसमें अन्य देशों से भी हिज्बुल्ला पर प्रतिबंध लगाने की मांग की गई। अमेरिका ने 1997 से हिज्बुल्ला को आतंकवादी संगठन घोषित कर रखा है।