Imran Khan speaks again on Gilgit Baltistan, now said giving the status of the province is a priority

इस्लामाबाद: पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने बृहस्पतिवार को अफ़ग़ानिस्तान (Afghanistan) के राष्ट्रपति अशरफ गनी (Ashraf Gani) से काबुल (Kabul) में मुलाकात की। नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों को प्रगाढ़ बनाने के तरीकों के अलावा अफ़ग़ानिस्तान शांति समझौते पर भी चर्चा की। इसके साथ ही इमरान ने अफ़ग़ानिस्तान में हिंसा को कम करने के लिए “सब कुछ” करने का संकल्प लिया।

अधिकारियों के अनुसार, दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों, शांति प्रक्रिया और क्षेत्रीय आर्थिक विकास और संपर्क को आगे बढ़ाने के तरीकों पर चर्चा की। राष्ट्रपति गनी ने काबुल शहर के मध्य में स्थित राष्ट्रपति महल में इमरान को रिसीव किया। उन्होंने इमरान की यात्रा को ऐतिहासिक बताया और कहा कि यह “हिंसा को समाप्त करने में मदद करने वाला महत्वपूर्ण संदेश” है।

इमरान ने गनी को आश्वासन दिया कि उनकी सरकार अफ़ग़ानिस्तान में हिंसा में कमी और स्थायी शांति लाने में मदद के लिए “हर संभव” उपाय करेगी। इमरान ने एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि ऐसे समय, जब (अफ़ग़ानिस्तान में) हिंसा बढ़ रही है, यात्रा का विचार राष्ट्रपति गनी को आश्वस्त करने के लिए है कि पाकिस्तान की जनता और सरकार की एक ही चिंता अफ़ग़ानिस्तान में शांति को लेकर है।

इससे पहले अफ़ग़ानिस्तान के विदेश मंत्री मोहम्मद हनीफ अत्मार और पाकिस्तान के लिए राष्ट्रपति के विशेष प्रतिनिधि मोहम्मद उमर दॉदजई तथा वरिष्ठ अधिकारियों ने इमरान का काबुल हवाई अड्डे पर रिसीव किया।

प्रधानमंत्री इमरान अपनी पहली अफ़ग़ानिस्तान यात्रा पर आए हैं। इमरान खान के साथ विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी, वाणिज्य सलाहकार अब्दुल रजाक दाऊद, आईएसआई प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज हामिद व अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी आए हैं।