भारत ने UN में पाकिस्तान को लगाई लताड़, आतंकवाद और अल्पसंख्यकों पर अत्याचार को लेकर घेरा

    जिनेवा: भारत (India) ने पाकिस्तान (Pakistan) एक बार फिर लताड़ लगाई है। संयुक्त राष्ट्र (United Nation) में भारत की स्थाई मिशन (Permanent Mission of India) की द्वितीय सचिव सीमा पूजनी  (Second Secretary Seema Pujani ) ने राइट टू रिप्लाई (Right To Reply) के तहत जवाब देते  कहा, “जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) और लद्दाख (Ladakh) भारत का अभिन्न और अविभाज्य हिस्सा हैं। इन केंद्र शासित प्रदेशों में सुशासन और विकास सुनिश्चित करने के लिए सरकार के कदम हमारे आंतरिक मामले हैं।”

    महिलाओं पर सबसे ज्यादा अत्याचार

    सचिव पूजनी ने कहा, “पाक के अल्पसंख्यकों, मुसलमानों, सिखों और हिंदुओं को हिंसा, संस्थागत भेदभाव और उत्पीड़न का सामना करना पड़ा। अल्पसंख्यक समुदायों की पूजा के स्थानों पर लगातार हमले हुए हैं, जो धर्म और मान्यताओं की स्वतंत्रता के अधिकार का गंभीर उल्लंघन है।”

    उन्होंने कहा, “अल्पसंख्यक समुदायों की महिलाओं की स्थिति, विशेष रूप से हिंदू, सिख और ईसाई, दुखी रहती हैं। पाकिस्तान की मानवाधिकार आयोग की हालिया रिपोर्ट के अनुसार इन समुदायों की अनुमानित 1000 महिलाओं ने हर साल पाक में अपहरण, जबरन धर्म परिवर्तन और विवाह किया गया।”

    आतंकवाद और पाकिस्तान के बीच सांठगांठ

    पूजनी ने आतंकवाद के मुद्दे पर घेरते हुए कहा, “उमर सईद शेख, अल-कायदा आतंकवादी और पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट द्वारा अमेरिकी पत्रकार डैनियल पर्ल के हत्यारे को हाल ही में बरी करना, इस तरह की संस्थाओं के साथ पाकिस्तानी प्रतिष्ठान की सांठगांठ का एक स्पष्ट उदाहरण है।”