भारतीय-अमेरिकी व्यक्ति ने स्वीकारा 1.7 करोड़ डॉलर की बैंक धोखाधड़ी का आरोप

वाशिंगटन. भारतीय मूल (Indian-American) के एक अमेरिकी व्यक्ति ने जालसाजी कर बैंक से 1.7 करोड़ अमेरिकी डॉलर का कर्ज लेने और धोखा देने की योजना बनाने में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है। अमेरिकी अटॉर्नी ने बताया कि राजेन्द्र कंकारिया (61), (Rajendra Kankariya) ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए अमेरिकी जिला न्यायाधीश सूसन डी. विंग्टन (Susan D. Wigenton) के समक्ष बैंक से धोखा करने का अपना गुनाह स्वीकार कर लिया।

उसे अधिकतम 30 साल की सजा मिल सकती है और 10 लाख अमेरिकी डॉलर तक का जुर्माना लग सकता है। कंकारिया को 18 जनवरी को सजा सुनाई जाएगी। दस्तावेजों के अनुसार मार्च 2016 से मार्च 2018 तक ‘लोटस एक्जिम इंटरनेशनल इंक’ के अध्यक्ष ने अन्य कर्मचारियों के साथ मिलकर बैंक से धोखे से 1.7 करोड़ डॉलर का कर्ज लेने की साजिश रची थी।(एजेंसी)