Indian-American entrepreneur Khalsa will distribute $ 1 million masks to protesters in America

वाशिंगटन. जाने-माने भारतीय-अमेरिकी परोपकारी एवं उद्यमी गुरिंदर सिंह खालसा ने जूनटीन्थ के अवसर पर घोषणा की कि वह अफ्रीकी-अमेरिकी जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस हिरासत में मौत के बाद पुलिस की बर्बरता के खिलाफ अमेरिका में शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे लोगों को 10 लाख डॉलर के मास्क एवं रक्षात्मक शील्ड दान करेंगे। ‘जूनटीन्थ’ अमेरिका में दास प्रथा के अंत की खुशी में मनाया जाता है। प्रतिष्ठित रोजा पार्क्स ट्रेलब्लेजर पुरस्कार से सम्मानित इंडियाना के रहने वाले खालसा ने कहा, ‘‘यदि हम घृणा एवं हिंसा की जगह प्रेम एवं करूणा फैलाना चाहते हैं तो हमें अमेरिका की असल तस्वीर पेश करने की आवश्यकता है।”

खालसा ने कहा कि मास्क और रक्षात्मक शील्ड दान करना न्याय की मांग कर रहे और पुलिस की बर्बरता समाप्त करने के लिए संघर्ष कर रहे लोगों की मदद करने का एक छोटा प्रतीक है। उन्होंने कहा कि उन्होंने जूनटीन्थ मनाने का यह फैसला पुलिस सुधार की मांग कर रहे राष्ट्रीय आंदोलन को समर्थन देने के लिए किया। खालसा ने हर अमेरिकी से अनुरोध किया कि वह मार्टिन लूथर किंग जूनियर और महात्मा गांधी जैसे नेताओं के दिखाए शांतिपूर्ण प्रदर्शन के मार्ग पर चलकर इस मुहिम का हिस्सा बनें।

मिनियापोलिस में फ्लॉयड की पुलिस हिरासत में हुई मौत के बाद से अमेरिका में व्यापक प्रदर्शन हो रहे हैं। अमेरिका कोरोना वायरस से सबसे बुरी तरह प्रभावित देशों में शामिल है। अमेरिका में इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 21,91,052 हो गई है जिनमें से 1,18,434 लोगों की मौत हो गई है। (एजेंसी)