Indian-Americans likely to be included in Biden-Harris administration cabinet: report

वॉशिंगटन: एक प्रमुख भारतीय-अमेरिकी संगठन (Indian-American Group) और राजनीतिक कार्य समिति (इंपैक्ट) (IMPACT) ने घोषणा की है कि इसने राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडेन (Joe Biden) और उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार सीनेटर कमला हैरिस (Kamala Harris) के चुनाव अभियान (Election Campaign) की खातिर पिछले तीन महीने में एक करोड़ डॉलर जुटाए हैं।

इंपैक्ट के कार्यकारी निदेशक नील मखीजा ने कहा कि किसी भी भारतीय-अमेरिकी राजनीतिक कार्य समिति की तरफ से जुटाई गई एक करोड़ डॉलर की राशि अब तक सर्वाधिक है। धन जुटाने की यह शक्ति देश भर में रूझानों को दर्शाती है।

सोमवार को जारी मीडिया विज्ञप्ति में बताया गया कि इसमें से एक बड़ी राशि एशियाई-अमेरिकी और भारतीय-अमेरिकी समुदाय की चुनावों में भागीदारी के प्रयासों पर खर्च किया जाएगा और इंपैक्ट 2020 के उम्मीदवारों के चयन पर भी खर्च किया जाएगा जिसमें बाइडेन और हैरिस भी शामिल हैं। मखीजा ने कहा कि इस वर्ष के चुनावों को लेकर भारतीय-अमेरिकी मतदाताओं में काफी उत्साह है।

उन्होंने कहा, ‘‘इतिहास में पहली बार किसी भारतीय -अमेरिकी (हैरिस) के प्रेसिडेंशियल टिकट में मौजूद होने और चुनाव में काफी संख्या में भारतीय मूल के उम्मीदवारों के होने के कारण भारतीय मूल के अमेरिकी मतदाता इस वर्ष के चुनाव में काफी प्रभाव छोड़ सकते हैं और इंपैक्ट इस उभरते ताकत को गतिशील बनाने में मदद करेगा।”

तीन नवंबर को राष्ट्रपति पद के चुनाव में भारतीय मूल के करीब 14 लाख मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। करीब पांच लाख भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक फ्लोरिडा, पेनसिल्वेनिया और मिशिगन में मतदान करेंगे।

इंपैक्ट ने बयान जारी कर कहा कि वह देश भर में राष्ट्रपति चुनाव, राज्य चुनावों और कांग्रेस के चुनावों में निवेश करेगा। निवेश में समिति के योगदान, खर्च वाले विज्ञापन, मतदाताओं को वोट के लिए प्रोत्साहित करना और ढांचागत निर्माण शामिल होगा। बाइडेन और हैरिस के अलावा इंपैक्ट ने प्रमिला जयपाल और रो खन्ना, डॉ. ऐमी बेरा और राजा कृष्णमूर्ति के उनके पुन: निर्वाचन प्रयासों का समर्थन किया है।