Indian-Americans likely to be included in Biden-Harris administration cabinet: report

वाशिंगटन: अमेरिका (America) के पूर्व सर्जन जनरल विवेक मूर्ति (Vivek Murthy) समेत दो प्रमुख भारतीय-अमेरिकियों (Indian-Americans) को अगले बाइडन-हैरिस प्रशासन (Biden-Harris Administration) की कैबिनेट में शामिल किया जा सकता है। 

‘द वाशिंगटन पोस्ट’ और ‘पॉलिटिको’ ने मंगलवार को कहा कि कोविड-19 (Covid-19) से निपटने को लेकर निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन (joe Biden) के शीर्ष भारतीय-अमेरिकी सलाहकार मूर्ति स्वास्थ्य एवं मानव सेवा मंत्री बनाए जा सकते हैं और स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर अरुण मजूमदार को ऊर्जा मंत्री बनाया जा सकता है। मूर्ति (43) सत्ता हस्तांतरण के कोविड-19 सलाहकार बोर्ड के सह अध्यक्ष हैं। वह कोरोना वायरस संबंधी मामलों को लेकर बाइडन के निकट सहयोगी रहे हैं।

खबरों में कहा गया है कि इसी प्रकार, ‘एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट्स एजेंसी-एनर्जी’ के पहले निदेशक मजूमदार ऊर्जा संबंधी मामलों पर बाइडन के शीर्ष सलाहकार रहे हैं। मजूमदार के अलावा ऊर्जा मंत्री पद के लिए पूर्व ऊर्जा मंत्री अर्नेस्ट मोनिज, स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के शोधार्थी डैन रीचर और पूर्व उप ऊर्जा मंत्री एलिजाबेथ शेरवुड रैंडल भी दावेदार हैं।

स्वास्थ्य एवं मानव सेवा मंत्री पद के लिए मूर्ति के अलावा उत्तरी कैरोलाइना की स्वास्थ्य एवं मानव सेवा मंत्री मैंडी कोहेन और न्यू मैक्सिको की गवर्नर मिशेल लुजान ग्रीशम को भी दावेदार माना जा रहा है।