Increasing vaccine production in India can be of great benefit: US
Representative Image

    तेहरान: तीसरे स्वदेशी कोविड-19 टीके (Covid-19 Vaccine) के क्लीनिक परीक्षण (Clinical Trial) के चरण में पहुंचने की आधिकारिक घोषणा के साथ ही ईरान (Iran) अपने लोगों को टीका लगाने के अभियान में और अपने आपको उभरते टीका विनिर्माता के रूप पेश करने की दिशा में एक कदम आगे बढ़ा है। हालांकि इस टीके का उत्पादन ब्यौरा पूरी तरह सामने नहीं आया है। आठ करोड़ से अधिक जनसंख्या वाले ईरान ने अब तक रूस (Russia), चीन (China), भारत (India) और क्यूबा (Cuba) से विदेशी टीके मंगवाये एवं 12 लाख लोगों को टीके लगवाये।

    ऐसे में टीकाकरण की पिछड़ती गति को लेकर उत्पन्न चिंता ने स्थानीय रूप से टीके विकसित करने के ईरान के अभियान को गति दी है । वैसे भी समृद्ध देश दुनिया में टीकों का बहुत बड़ा हिस्सा हथिया ले रहे हैं। दुनिया के अन्य देशों की भांति ईरान में भी वैज्ञानिक साल भर में टीका विकसित करने की प्रक्रिया को कुछ महीनों में पूरा करने के लिए प्रयासरत हैं।

    हालांकि ईरान पश्चिम एशिया में इस वायरस से बहुत परेशान है और बाहर निकलने के लिए संघर्षरत है। दूसरा उस पर कठोर अमेरिकी प्रतिबंध भी हैं। ईरान के टीका उत्पादन के बारे में विवरण बहुत कम सामने आया है। दो ईरानी टीके क्लीनिकल परीक्षण के चरणों में हैं । बारेकाट नामक टीके का 300 लोगों पर परीक्षण किया गया है।