Iran

तेहरान. ईरान (Iran) के राष्ट्रपति हसन रूहानी (Hassan Rouhani) ने सोमवार को आरोप लगाया कि इस्लामिक गणराज्य के सैन्य परमाणु कार्यक्रम में अहम भूमिका निभाने वाले वैज्ञानिक की हत्या के पीछे इजराइल का हाथ था। साथ ही उन्होंने दावा किया कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन के अंतिम दिनों में इजराइल (Israel) ने युद्ध छेड़ने की मंशा से ऐसा किया।

ईरान के परमाणु कार्यक्रम से जुड़े शीर्ष वैज्ञानिक मोहसिन फखरीजादेह की पिछले महीने हुई हत्या के बाद पहली बार सार्वजनिक तौर पर ईरान के राष्ट्रपति ने इजराइल को सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराया है। पिछले एक दशक में ईरान के परमाणु वैज्ञानिकों की हत्या के मामलों को लेकर इजराइल पर संदेह जताया जाता रहा है। हालांकि, इजराइल ने इन आरोपों को हमेशा सिरे से खारिज किया है।

रूहानी ने प्रेसवार्ता में कहा, “हत्या के पीछे इजराइल का मुख्य उद्देश्य ट्रंप प्रशासन के अंतिम दिनों में युद्ध एवं अस्थिरता पैदा करना था।” रूहानी ने हत्या का बदला लेने का संकल्प लिया लेकिन कहा कि उनका देश इजराइल को “समय और स्थान” तय करने की अनुमति नहीं देगा। राष्ट्रपति ने कहा कि ईरान क्षेत्र में अस्थिरता पैदा करने की अनुमति नहीं देगा। (एजेंसी)