Joanne S. Bass becomes the first woman to be elected Chief Master Sergeant of the US Air Force

वाशिंगटन. चीफ मास्टर सार्जेंट जोएन एस. बास को वायु सेना का 19वां चीफ मास्टर सार्जेंट चुना गया है और इसी के साथ वह किसी अमेरिकी सैन्य सेवा में शीर्ष ‘एन्लिस्टिड लीडर’ चुनी जाने वाली पहली महिला बन गई हैं। वायुसेना ने चीफ मास्टर सार्जेंट के रूप में किसी महिला का चयन कर इस महीने में दूसरी बार इतिहास रचा है। इससे करीब दो सप्ताह पहले सीनेट ने जनरल चार्ल्स क्यू. ब्राउन की वायु सेना के चीफ ऑफ स्टाफ पद पर नियुक्ति की पुष्टि की थी। ब्राउन अमेरिका की किसी सैन्य सेवा का नेतृत्व करने वाले पहले अश्वेत अधिकारी बन गए हैं।

वह अगस्त में कार्यभाल संभालेंगे। अमेरिका सेना में वरिष्ठ पदों पर अपेक्षाकृत बहुत कम महिलाओं को पदोन्नत किया जाता है। अभी तक किसी भी महिला को किसी सैन्य सेवा के चीफ के रूप में सेवाएं देने का मौका नहीं दिया गया है और न ही किसी महिला ने ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के सदस्य के तौर पर सेवाएं दी है। बास सेवा के एन्लिस्टिड (सूचीबद्ध) कर्मियों के कल्याण संबंधी मामलों पर ब्राउन और वायु सेना सचिव बारबरा बैरेट की वरिष्ठ एन्लिस्टिड सलाहकार होंगी।

हवाई की रहने वाली बास मिसिसिपी में कीस्लर वायु सेना अड्डे पर कमांड चीफ मास्टर सार्जेंट के रूप में सेवाएं दे रही हैं। वह 1993 में वायुसेना में भर्ती हुई थी। वायुसेना ने बास के हवाले से कहा, ‘‘यह मेरे लिए बहुत सम्मान की बात है कि मुझे वायु की 19वीं चीफ मास्टर सार्जेंट के तौर पर चुना गया।”(एजेंसी)