अमेरिकी राष्ट्रपति ने बौद्ध अनुयायियों को दी ‘बुद्ध पूर्णिमा’ की शुभकामनाएं

    वाशिंगटन. अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) ने वेसाक (Vesak) के अवसर पर बौद्ध समुदाय के लोगों को बुधवार को शुभकामनाएं दीं। वेसाक-बुद्ध पूर्णिमा (Buddha Purnima) को गौतम बुद्ध के जन्म, ज्ञान की प्राप्ति और महापरिनिर्वाण दिवस के रूप में मनाया जाता है। बाइडन ने अपने संदेश में कहा, ‘‘मैं और (प्रथम महिला) जिल (बाइडन) अमेरिका एवं दुनियाभर में रहने वाले बौद्ध अनुयायियों को बुद्ध के जन्म, बुद्धत्व की प्राप्ति और महापरिनिर्वाण दिवस के रूप में मनाए जाने वाले वेसाक की शुभकामनाएं देता हूं।”

    उन्होंने कहा कि मोमबत्ती जलाकर इस अवसर को मनाना लोगों को दया, मानवता एवं नि:स्वार्थ भावना की बौद्ध धर्म की शिक्षाओं की याद दिलाता है। बाइडन ने कहा, ‘‘इस अवसर पर हम अमेरिका में बौद्ध अनुयायियों के योगदानों को भी याद करते है, जो उज्ज्वल भविष्य के लिए मिलकर काम कर रहे हमारे समुदायों एवं हमारे देश को समृद्ध बनाते हैं।” इस बीच, अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने ट्वीट किया, ‘‘अमेरिका और दुनिया भर में बौद्ध धर्म के अनुयायी बुद्ध के जन्म, उनकी ज्ञान प्राप्ति और उनके परिनिर्वाण की याद में वेसाक मनाते हैं। यह दिवस दया, एकता और एक दूसरे का ख्याल रखने की भावना का प्रतीक है। ये सीख आज सबसे अधिक महत्वपूर्ण हैं। मैं और (मेरे पति) डग (एम्हॉफ) सभी को वेसाक की शुभकमानाएं देते हैं।”

    ‘धर्म इनटू एक्शन फाउंडेशन’ ने बताया कि व्हाइट हाउस ने बौद्ध धर्म की तीन परम्पराओं- महायान, थेरवाद और वज्रयान के प्रतिनिधियों की मौजूदगी में मोमबत्ती जलाकर वेसाक मनाया। अमेरिका के विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन और अमेरिकी जेंसी फॉर इंटरनेशनल डेवल्पमेंट की प्रशासक सामंता पावर समेत कई अन्य हस्तियों ने वेसाक दिवस की शुभकामनाएं दीं।(एजेंसी)