द. कोरिया ने कोरोना के संबंध में गिरजाघर के 88 वर्षीय नेता को किया गिरफ्तार

सियोल. दक्षिण कोरियाई अधिकारियों ने फरवरी और मार्च में हजारों लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद इस महामारी के खिलाफ सरकार के प्रयासों को बाधित करने के आरोपों की जांच के तहत शनिवार को एक गोपनीय धार्मिक पंथ के बुजुर्ग नेता को गिरफ्तार कर लिया। मध्य सुवाआन शहर में अभियोजक शिनचियोंजी चर्च ऑफ जीजस के अध्यक्ष 88 वर्षीय ली मैन-ही से पूछताछ कर रहे हैं। उन पर आरोप है कि गिरजाघर ने कुछ सदस्यों को छिपाया और पृथक-वास से बचाने के लिए लोगों की संख्या को कम करके बताया।

सुवाआन जिला अदालत ने शनिवार तड़के अभियोजकों के ली को गिरफ्तार करने के अनुरोध को मंजूरी दी। अभियोजकों ने आशंका जताई कि ली सबूत से छेड़छाड़ कर सकते हैं। ली और उनके गिरजाघर ने आरोपों से इनकार करते हुए कहा कि वे स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ सहयोग कर रहे हैं। उसके प्रवक्ता किम यंग-उन ने कहा कि गिरजाघर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करेगा ताकि ‘‘अदालत में सच साफ तौर पर साबित हो जाए।” दक्षिण कोरिया में कोविड-19 के 14,336 में से 5,200 से अधिक मामले गिरजाघर से जुड़े हैं। गिरजाघर की दक्षिण शहर दाएगू में स्थित शाखा फरवरी में संक्रमण के मामलों का मुख्य केंद्र बनकर सामने आयी।(एजेंसी)