Major action on Royal Air Force's ISIS base, attack on the stronghold of Islamic State
Representative Picture

    लंदन: उत्तरी इराक (Iraq) में आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (Islamic State) (आईएसआईएस) (ISIS) के गढ़ के सफाए के लिए क्षेत्र में सुरक्षा बलों (Security Forces) ने संयुक्त अभियान (Joint Operation) के तहत मिसाइलों (Missiles) और बमों (Bomb) का इस्तेमाल किया। ब्रिटेन (Britain) के रॉयल एयर फोर्स (Royal Air Force) (आरएफ) ने गुरूवार को यह जानकारी दी। मार्च में 10 दिन चले अभियान में इराकी सुरक्षा बल के सैनिकों ने एर्बिल से दक्षिण-पश्चिम मखमूर पहाड़ी से आईएसआईएस का सफाया किया जबकि आरएएफ एवं वैश्विक गठबंधन ने सहयोग करते हुए हवाई हमले किये। यह अभियान तब शुरू हुआ जब आईएसआईएस के आतंकवादियों की मखमूर पहाड़ी की गुफाओं में छिपे होने की पुष्टि हुई।

    अभियान 22 मार्च को खत्म हुआ। ब्रिटेन के रक्षा मंत्री बेन वालेस ने कहा, ‘‘दाएश (आईएसआईएस) के आतंकवादी जहां भी छिपे हैं, इराकी और गठबंधन के सहयोगियों के साथ ब्रिटिश आर्म्ड फोर्सेज उनका समूल नाश करना जारी रखेगा।” उन्होंने कहा, ‘‘ब्रिटेन दाएश को खत्म करने के लिए प्रतिबद्ध है। यह अभियान इस आतंकवादी संगठन और उसकी जहरीली विचारधारा को इराक में फिर से पांव पसारने से रोकेगा और दुनिया भर में हमला करने की उसकी क्षमता को कमजोर करेगा।”

    पश्चिम एशिया में यूके एयर कंपोनेंट कमांडर एयर कमोडोर साइमन स्ट्रासडिन और 83 एक्पेडिशनरी एयर ग्रुप के एयर ऑफिसर कमांडर ने बताया कि रॉयल एयर फोर्स और गठबंधन सेना ने इराकी सुरक्षा बल की एक सक्षम इकाई के नेतृत्व में अभियान चलाया। उन्होंने कहा कि दाएश के खात्मे के लिए हम लोग मिलकर काम कर रहे हैं। आरएएफ ने बताया कि रविवार को एक अन्य अभियान में हेलफायर मिसाइल से लैस आरएएफ रीपर विमान ने अल हसाका से 50 मील पश्चिम में उत्तरी सीरिया में आईएसआईएस के एक छोटे समूह की पहचान की।

    आसपास किसी आम नागरिक के नहीं होने की सूचना के बाद रीपर के सैनिकों ने आतंकवादियों पर हमला किया और लक्ष्य को सफलतापूर्वक भेद दिया। क्षेत्र में आईएसआईएस का खात्मा कर दिया गया है हालांकि एक अनुमान के मुताबिक अब भी करीब 10,000 आतंकवादी सीरिया और इराक में मौजूद हैं। ब्रिटेन ने कहा है कि वह वैश्विक गठबंधन के तहत 82 देशों के साथ मिलकर आईएसआईएस के खात्मे के लिए प्रतिबद्ध है।