Sri Lanka Cabinet approves the proposal of ban on niqab in public places
File

    जोहानिसबर्ग: दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के मुस्लिम संगठनों (Muslim Organizations) ने देश के विदेश मंत्री (Foreign Minister) से श्रीलंका (Sri Lanka) में बुर्के (Burqa) पर प्रतिबंध (Ban) और सैकड़ों की संख्या में इस्लामिक स्कूलों (Islamic Schools) को बंद किए जाने के प्रस्ताव पर हस्पक्षेप करने की मांग की है। दरअसल श्रीलंका के जन सुरक्षा मंत्री शरद वीरसेकेरा ने सप्ताहांत में घोषणा की थी कि उनका देश कुछ मुस्लिम महिलाओं द्वारा चेहरे को पूरी तरह से ढ़कने के लिए पहने जाने वाले हिजाब पर प्रतिबंध लगाएगा, क्योंकि इससे राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा पैदा होता है।

    इसके तत्काल बाद श्रीलंका के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी करके कहा कि इस प्रस्ताव पर कोई निर्णय विचार-विमर्श और चर्चा के पश्चात ही लिया जाएगा। ‘यूनाइटेड उल्मा काउंसिल ऑफ साउथ अफ्रीका'(यूयूसीएसए) ने दक्षिण अफ्रीका के विदेश मंत्री नालेदी पांडोर से इस मामले में हस्तक्षेप करने को कहा है।

    संगठन के महासचिव यूसुफ पटेल ने कहा,‘‘ यूयूसीएसए एक बार फिर विदेश मंत्रालय से अपने समकक्षों के समक्ष इस मुद्दे को उठाने और इस्लाम के प्रति राज्य प्रायोजित भय को रोकने की अपील करता है।” देश के अन्य संगठनों ने भी इस प्रस्ताव की निंदा की और कहा कि इस्लामिक स्कूलों को निशाना बनाना श्रीलंका की सरकार का पाखंड है।

    ‘साउथ अफ्रीकन मुस्लिम नेटवर्क’ के अध्यक्ष डॉ फैसल सुलीमान ने कहा, ‘‘ वहां अन्य धार्मिक संगठन भी हैं जिनके संस्थान हैं और जहां उनके धर्म के बारे में शिक्षा दी जाती है, लेकिन उन्हें निशाना बनाने के कोई प्रयास नहीं किए गए।”