Nepal's prime minister asked to increase surveillance on southern border in view of corona virus

काठमांडू. नेपाल में भारतीय नागरिकों की मौत का और एक मामला उजागर हुआ है। पश्चिमी नेपाल के प्रांत नंबर पांच में सिद्धार्थनगर नगर पालिका के गल्लामंडी पिपरिया इलाके में एक भारतीय परिवार के चार लोग

काठमांडू. नेपाल में भारतीय नागरिकों की मौत का और एक मामला उजागर हुआ है। पश्चिमी नेपाल के प्रांत नंबर पांच में सिद्धार्थनगर नगर पालिका के गल्लामंडी पिपरिया इलाके में एक भारतीय परिवार के चार लोग बोरियों के ढेर के नीचे दब गए, जिसके बाद उनकी दम घुटने से मौत हो गई। 10 के भीतर यह दूसरी घटना है।

आपको बतादें कि 10 दिन पहले 21 जनवरी को यहां के एक होटल के कमरे में 2 भारतीय परिवार के 8 लोगों की मौत हो गई थी। जिसमें 4 बच्चें भी शामिल थे। इन सभी की मौत दम घुटने से हुई थी। सभी मृतक केरल राज्य के तिरुवनंतपुरम व कोझिकोड के रहने वाले थे और छुट्टियां मनाने गए थे।

नेपाल पुलिस के अनुसार शहजाद हुसैन(30), उसकी पत्नी सद्दाब खातून, 2 साल की बेटी और 6 साल का बेटा अपने किराए के कमरे में बोरियों के ढेर के नीचे मृत पाए गए। शहजाद पिछले 15 सालों से यहां कबाड़ी के तौर पर काम कर रहा था। पुलिस ने बताया कि प्रारंभिक रिपोर्टों के अनुसार, इन चारों की मौत दम घुटने से हुई है।

चारों के शव पोस्टमार्टम के लिए यहां के रूपानदेही जिले के अस्पताल में भेज दिए गए है। पुलिस ने बताया कि वह इस मामले की जांच कर रहे है।
 
उन्होंने बताया कि प्रारंभिक रिपोर्टों के अनुसार, इन चारों की मौत दम घुटने से हुई है। चारों के शवों को रुपानदेही जिले के अस्पताल में पोस्ट मार्टम के लिए भेजा गया है। पुलिस ने कहा है कि वह मामले की जांच कर रही है।