No change in 'carbon dioxide' concentration in the atmosphere despite lockdown
Representative Picture

बर्लिन: कोविड-19 (Covid-19) महामारी के चलते लगाए गए विभिन्न प्रतिबंधों के बावजूद वायुमंडल में ‘कार्बन डाईऑक्साइड’ सांद्रण की स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया है। यह बात एक अध्ययन में कही गई है।

जर्मनी (Germany) स्थित कार्लस्रुहे इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (Karlsruhe Institute of Technology) (केआईटी) के वैज्ञानिकों ने अध्ययन के बाद कहा कि हालांकि, 2020 के लिए कार्बन डाईऑक्साइड के उत्सर्जन में आठ प्रतिशत तक की कमी अनुमानित की गई है, लेकिन वायुमंडल में इस ग्रीनहाउस गैस के सांद्रण में अब तक कोई बदलाव नहीं आया है।

पत्रिका ‘रिमोट सेंसिंग’ में प्रकाशित अध्ययन रिपोर्ट में कहा गया है कोविड-19 महामारी की वजह से लोग घर से काम कर रहे हैं जिससे यातायात के साधनों पर कुछ विराम लगा है और ‘कार्बन डाईऑक्साइड’ के उत्सर्जन की मात्रा में कमी हो रही है, लेकिन यह कमी अपर्याप्त है।

अध्ययन रिपोर्ट के सह-लेखकर राल्फ सुसमैन ने कहा, ‘‘वायुमंडल में दीर्घकाल के लिए कार्बन डाईऑक्साइड सांद्रण में कमी लाने के लिए कोविड-19 महामारी के दौरान लगाए गए प्रतिबंधों को दशकों तक जारी रखने की आवश्यकता होगी।”