No plan to close educational institutions again: Pakistan minister
File

इस्लामाबाद: पाकिस्तान (Pakistan) में कोविड-19 (Covid-19) महामारी की दूसरी लहर सर्दियों में आने आशंका के बीच सरकार ने स्पष्ट किया है कि शिक्षण संस्थानों (Educational Institutions) को दोबारा बंद करने की कोई योजना नहीं है। देश के शिक्षा मंत्री शफाकत महमूद ने उन खबरों और अफवाहों को खारिज कर दिया जिसमें कहा गया था कि संक्रमण दर बढ़ने के मद्देनजर शिक्षण संस्थानों को दोबारा बंद किया जा सकता है।

उल्लेखनीय है कि पिछले महीने पाकिस्तान ने कोविड-19 महामारी की वजह से करीब छह महीने से बंद शिक्षण संस्थानों को दोबारा खोला था। दोनों-निजी और सरकारी- स्कूलों को भी कड़ी पाबंदियों के बीच दोबारा खोला गया है। प्रशासन ने सख्त हिदायत दी है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए वे मानक परिचालन प्रक्रिया का अनुपालन करें।

महमूद ने बृहस्पतिवार को कहा, ‘‘अल्लाह की दुआ से हम अपने बच्चों को स्कूल भेजने की स्थिति में हैं। महामारी के दौरान स्कूलों को बंद करने का फैसला सही आकलन था, जिससे हमारा शिक्षा क्षेत्र बच गया। हालांकि अब हमारा इरादा शिक्षण संस्थानों को बंद करने का नहीं है।” प्रधानमंत्री इमरान खान ने रविवार को आगाह किया था कि सर्दियों में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ने की आशंका है।

कोविड-19 के खिलाफ एकीकृत रणनीति बनाने के लिए गठित राष्ट्रीय कमान एवं परिचालन केंद्र (एनसीओसी) की बृहस्पतिवार को हुई बैठक में रेखांकित किया गया कि देश में कोरोना वायरस की संक्रमण दर में मामूली वृद्धि हुई है। बैठक में कोविड-19 मानक परिचालन प्रक्रिया के उल्लंघन संबंधी मामलों में वृद्धि पर भी चिंता जताई गई।

इस बीच, स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि शुक्रवार को गत 24 घंटे में 661 नये मामले आने के साथ देश में कुल कोविड-19 मरीजों की संख्या बढ़कर 3,17,595 हो गई है। इस अवधि में आठ कोविड-19 मरीजों की मौत हुई है। देश में कोरोना वायरस की वजह से अब तक कुल 6,552 लोगों की जान जा चुकी है। कोविड-19 से उबरने वाले लोगों की संख्या फिलहाल 3,02,708 है।